दिल्ली: हाई कोर्ट ने पूछा BSF के अफसर इतने पत्थरदिल-असंवेदनशील क्यों

बीएसएफ जवान तेज बहादुर की पत्नी की याचिका पर सुनवाई के दौरान दिल्ली हाई कोर्ट ने अटॉर्नी जनरल से पूछा कि बीएसएफ के अफसर इतने पत्थरदिल और असंवेदनशील क्यों हैं?

दिल्ली: हाई कोर्ट ने पूछा BSF के अफसर इतने पत्थरदिल-असंवेदनशील क्यों






बीएसएफ जवान तेज बहादुर की पत्नी की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने अटॉर्नी जनरल से पूछा कि बीएसएफ के अफसर इतने पत्थरदिल और असंवेदनशील क्यों हैं? बीएसएफ जवान की पत्नी के पूछे सवालों का कोई जवाब क्यों नहीं दिया गया? कोर्ट ने कहा, 'हम आपके नियमों के बीच नहीं आना चाहते, लेकिन हम खौफ के साए में जी रही तेजबहादुर की पत्नी की मन:स्थिति से चिंतित हैं। उनको पति की चिंता है। उनकी शंका दूर कीजिए।' इस पर अटॉर्नी जनरल ने कहा कि पत्नी की पति से मुलाकात में हमें कोई समस्या नहीं है। इस पर कोर्ट ने कहा कि हम इस मामले की सुनवाई 15 फरवरी को तय कर रहे हैं, तब तक तेजबहादुर की पत्नी पति से मिलकर लौट आएंगी।

मीडिया रिपाेर्ट के मुताबिक इस मामले की सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने कहा कि तेजबहादुर की पत्नी को पति का मोबाइल नंबर और उनकी पोस्टिंग का मौजूदा पता भी मुहैया कराया जाए। अदालत ने सुरक्षा बल के जवान की पत्नी की बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर यह निर्देश दिया। याचिका में आरोप लगाया गया था कि पति तेज बहादुर यादव लापता है और उनका परिवार पिछले तीन दिनों से संपर्क नहीं कर पाया है। न्यायमूर्ति जीएस सिस्तानी और न्यायमूर्ति विनोद गोयल की पीठ ने कहा कि हम पत्नी के डर को देख रहे हैं, जिसे लगता है कि पति अवैध हिरासत में है। उन्होंने कहा, 'हम विभाग की ओर से पेश की गई कॉल डीटेल से संतुष्ट नहीं हैं कि पति-पत्नी की फोन पर बात होती है।' हाई कोर्ट ने केंद्र और बीएसएफ की तरफ से पेश अडिशनल सॉलिसिटर जनरल को आगे निर्देश दिया कि पत्नी को पति के साथ मिलने की हर मुमकिन व्यवस्था की जानी चाहिए। जब वह वहां जाएं तो उन्हें कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को अदालत को जानकारी दी कि सीमा सुरक्षा बल के जवान तेज बहादुर यादव को सांबा डिस्ट्रिक्ट की दूसरी बटैलियन में शिफ्ट कर दिया गया है।






वहीं पर दूसरी तरफ बीएसएफ की जांच टीम की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक फेसबुक पर तेजबहादुर के 17% फॉलोअर्स पाकिस्तानी हैं। जांच एजेंसियां इस पर नजर बनाई हुई हैं। सूत्र बताते हैं कि तेजबहादुर के कई फॉलोअर कनाडा, तंजानिया जैसे देशों में हैं। पाकिस्तान मूल के लोग तेज बहादुर के विडियोज #near_mutiny_in_Indian_Army हैशटैग से शेयर कर रहे हैं।