डोनाल्ड ट्रंप ने जज के फैसले को बताया 'बकवास'

ट्रंप ने कहा, 'संभावित आतंकवादियों और हमारा अच्छा न चाहने वालों के लिए जज हमारे देश के रास्ते खोल रहा है। बुरे लोग बहुत खुश हैं।'

डोनाल्ड ट्रंप ने जज के फैसले को बताया

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को न्यायपालिका की ओर से बड़ा झटका लगा है। फेडरल कोर्ट के जज ने ट्रंप के 'मुस्लिम बैन' के खिलाफ आदेश दिया, जिसके बाद इसे लागू करने की प्रक्रिया फिलहाल रोक दी गई है। सोमवार को ट्रंप ने अदालती की कार्रवाई की ओलाचना की। अपने खिलाफ हो रहे जनविरोध और कोर्ट के इस फैसले पर ट्रंप बिफर गए। ट्रंप ने कहा कि अमेरिका में अगर कुछ बुरा होता है, तो इसके लिए जज जिम्मेदार होंगे। ट्रंप ने आगे लिखा, 'संभावित आतंकवादियों और दिल में हमारा अच्छा न चाहने वालों के लिए जज हमारे देश के रास्ते खोल रहा है। बुरे लोग बहुत खुश हैं।' ट्रंप ने संबंधित जज के विचार को बकवास करार देते हुए कहा कि कोर्ट का यह फैसला पलट दिया जाएगा।

शुरुआत में कई लोगों ने ट्रंप के इस निर्णय का समर्थन किया था। हाल में ही किए गए दो सर्वेक्षणों में सामने आया कि बहुसंख्यक अमेरिकी आबादी अब इस फैसले का विरोध कर रही है। ट्रंप प्रशासन ने सर्वेक्षण के इस नतीजे को 'मीडिया द्वारा फैलाया हुआ झूठ' बताकर खारिज कर दिया है। ट्रंप ने ट्वीट किया, 'कोई भी नकारात्मक सर्वेक्षण फर्जी न्यूज है। ये पोल्स वैसे ही हैं जैसे CNN, ABS, NBC ने चुनाव के दौरान कराए थे।' ट्रंप ने लिखा, 'माफ कीजिए, लोग अमेरिका की सीमाओं को सुरक्षित करना चाहते हैं।' एक अन्य ट्वीट में ट्रंप ने लिखा, 'कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकवाद से मिल रहा खतरा वास्तविक है। यूरोप और मिडिल-ईस्ट में जो हो रहा है, उसे देखो। अदालतों को जल्द कार्रवाई करनी चाहिए।'

ट्रंप ने लिखा कि यकीन नहीं कर पा रहा हूं कि एक जज हमारे देश को इतने बड़े जोखिम में डाल सकता है। अगर कोई होता है, तो उसे और इस न्यायपालिका व्यवस्था को दोष दीजिएगा। यह बहुत बुरा है। मैंने होमलैंड सिक्यॉरिटी को निर्देश दिया है कि वे बेहद सावधानी से हमारे देश के अंदर आ रहे लोगों की जांच करें। अदालतें इस काम को बहुत मुश्किल बना रही हैं।