रूस के साथ मित्रता का संबंध चाहते हैं ट्रम्प: व्हाइट हाउस

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प जानते हैं कि रूस के साथ ‘‘बेहतर संबंध’’ अमेरिका के हित में है और इसलिए वह पूर्ववर्ती प्रशासन से इतर रूस के साथ मित्रता का संबंध चाहते हैं,

रूस के साथ मित्रता का संबंध चाहते हैं ट्रम्प: व्हाइट हाउस

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प जानते हैं कि रूस के साथ ‘‘बेहतर संबंध’’ अमेरिका के हित में है और इसलिए वह पूर्ववर्ती प्रशासन से इतर रूस के साथ मित्रता का संबंध चाहते हैं, जबकि ओबामा प्रशासन इस तरह के प्रयास में नाकाम रहा था। अंतरराष्ट्रीय मीडिया के अनुसार व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने कहा, ‘‘मुझे लगता है राष्ट्रपति की उस इच्छा में थोड़ा अंतर है कि वह यह समझते हैं कि रूस के साथ बेहतर संबंध समूची दुनिया में आईएसआईएस और आतंकवाद के खात्मे में हमारी मदद कर सकता है। ओबामा प्रशासन ने रूस के साथ संबंध सुधारने की कोशिश तो की, लेकिन वो नाकाम रहे।

स्पाइसर ने अपनी बात काे आगे रखते हुए कहा कि, उन्हाेने रूस को बताने की कोशिश की कि क्रीमिया पर आक्रमण नहीं करें, लेकिन नाकाम रहे। मौजूदा राष्ट्रपति यह समझते हैं कि सहज संबंध अमेरिका के राष्ट्रीय और आर्थिक हित में है। अगर पुतिन और रूस के साथ उनके बेहतर रिश्ते हैं तो यह अच्छा है और अगर ऐसा नहीं होता है तो वह इस दिशा में आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि लेकिन वह सिर्फ ये बात मानने को तैयार नहीं हैं कि अतीत में ऐसा होना संभव नहीं था।

हांलाकि स्पाइसर ने दृढ़ता से इस बात का खंडन किया कि ट्रम्प रूस को लेकर नरम हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति ने यह स्पष्ट किया है कि उन्हें उम्मीद है कि रूस सरकार यूक्रेन में हिंसा कम करेगी और क्रीमिया को वापस लौटायेगी।

उन्होंने कहा, ‘‘दूसरी ओर उन्हें इस बात की भी पूरी उम्मीद है और वह पूर्ववर्ती प्रशासन के विपरीत रूस के साथ बेहतर संबंध चाहते हैं ताकि आईएसआईएस और आतंकवाद जैसी दुनिया की ऐसी कई समस्याओं का मिलकर समाधान किया जा सके। बहरहाल, विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी के नेताओं ने रूस पर कथित रूप से नरम रवैये को लेकर ट्रम्प की आलोचना की है।