बेटे की लाश को कंधे पर लेकर थाने पहुंचा बाप, सब देखते रहे तमाशा

एक वृद्ध बाप अपने कंधे पर जवान बेटे की लाश ले जा रहा था। इंसानियत का चोला पहने वहां मौजूद लोग तमाशा देखते रहे । किसी ने भी उस बाप की मदद करने की कोशिश तक नहीं की।

बेटे की लाश को कंधे पर लेकर थाने पहुंचा बाप, सब देखते रहे तमाशा

लोगों में इंसानियत और मानवता धीरे-धीरे खत्म होती जा रही है। कुछ ऐसी ही तस्वीर बिहार के गोपालगंज से सामने आई है जहां एक वृद्ध बाप अपने कंधे पर जवान बेटे की लाश ले जा रहा था। इंसानियत का चोला पहने वहां मौजूद लोग तमाशा देखते रहे । लेकिन, किसी ने भी उस बाप की मदद करने की कोशिश तक नहीं की। वहीं, बाप अकेला ही बेटे की लाश को कंधे पर उठाए थाने पहुंचा।

ये मामला बिहार के गोपालगंज जिले के कटेया क्षेत्र के रानीपुर गांव का है जहां राम राजभर का बेटा सिद्धू राजभर की हत्या किसी अज्ञात अपराधियों ने कर दी। हत्या के बाद पड़ोस के ही गांव रानीपुर के बेलवनिया नहर के पास एक पेड़ पर गमछे से बांधकर उसकी लाश लटका दी गई। वहीं, लटकती लाश को देख आसपास के लोग वहां जमा हो गए जिसके चलते पूरे इलाके में सनसनी का माहौल पैदा हो गया। वहीं, यह घटना आग की तरह पूरे गांव में फैल गई। ऐसे में धीरे-धीरे इस बात की जानकारी मृतक के परिवारवालों को हुई और वे तुरंत घटनास्थल पहुंचे। वहीं अपने बेटे की लाश पेड़ ले लटकी देखकर उनके पैरों से जमीन निकल गई। देखते ही देखते मामले की जानकारी कटेया थाने को दी गई। लेकिन, मामले की सूचना मिलने के घंटों बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने भी इंसानियत को शर्मसार करने का काम किया। बता दें कि पुलिस ने अपराधियों को पकड़ने और मृतक के परिवारवालों को सांत्वना देने के बजाय पुलिसिया रौब दिखाने लगे। वहीं, एक तरफ बेटे की लाश दूसरी तरफ पुलिस की धौंस को देख मृतक के परिजन और भी टूटते चले गए। पुलिस ने शव को अस्पताल भेजने के बजाय थाने लाने की बात कही और वे घटनास्थल से सीधे थाने निकल गए। खबर है कि बेटे की लाश को थाने ले जाने के लिए सरकारी वाहन का इंतजाम नहीं किया गया। जिसके बाद बेसहारा बाप ने अपने बेटे की लाश को कंधे पर लादकर थाने पहुंचा। ऐसे में घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने भी इस बेसहारा बाप की कोई मदद नहीं की। वहीं, मृतक के पिता ने बेटे के अंतिम संस्कार करने के लिए पुलिस से जल्द से जल्द से कागजी कार्रवाई करने को कहा।