अगर मुस्लिमों को टिकट दिया होता तो अच्छा होता: नकवी

यूपी विधानसभा चुनाव में एक तरफ समाजवादी पार्टी और बीएसपी ने करीब 100-100 मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया है। वहीं दूसरी तरफ बीजेपी की ओर से एक भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया है।

अगर मुस्लिमों को टिकट दिया होता तो अच्छा होता: नकवी

यूपी विधानसभा चुनाव में एक तरफ समाजवादी पार्टी और बीएसपी ने करीब 100-100 मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया है। वहीं दूसरी तरफ बीजेपी की ओर से एक भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया है। इसे लेकर बीजेपी के भीतर भी सवाल उठने लगे है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीजेपी नेता और मोदी सरकार में मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि अगर मुस्लिम को टिकट दिया होता तो अच्छा होता।

मुस्लिमों को टिकट नहीं देने पर नकवी को मलाल
वहीं इस बात का केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी को मलाल है कि बीजेपी ने यूपी के चुनाव में एक भी मुस्लिम को टिकट नहीं दिया, हालांकि नकवी कह रहे हैं कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है।

मुस्लिम कार्यकर्ता चुनाव जीतने के लायक नहीं
बीजेपी के अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने इस मामले पर कहा था कि कोई मुस्लिम कार्यकर्ता चुनाव जीतने के लायक ही नहीं था इसलिए टिकट नहीं दिया गया।

विरोधी कर रहे BJP पर हमला
बता दें कि किसी मुस्लिम को टिकट नहीं देने पर विपक्षी दल लगातार पर बीजेपी पर हमला कर रहे हैं, लेकिन पहली बार आवाज पार्टी के अंदर से भी उठी है। वहीं बीजेपी के विरोधी मुस्लिम वोट के सहारे ही अपनी नैया पार कराने की कोशिश में लगे हैं।

मुस्लिमों का हितैषी बनने की होड़
इस बार के चुनाव में सपा-कांग्रेस गठबंधन ने 100 मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया है, वहीं मायावती ने 100 के लगभग मुस्लिम उम्मीदवारों को मैदान में उतारा हैं। बीजेपी की ओर से कोई मुस्लिम उम्मीदवार नहीं है और विरोधियों में खुद को मुसलमान का सबसे बड़ा हितैषी बताने की होड़ मची हुई है।