अरुणाचल के पूर्व सीएम के सुसाइड नोट में कई सनसनीखेज खुलासे

खुदकुशी करने के एक दिन पहले अरुणाचल के पूर्व सीएम कालिखो पुल ने 60 पेज का एक सुसाइड नोट लिखा जिसमें उन्होंने संवैधानिक पदों पर बैठे विभिन्न लोगों पर गंभीर आरोप लगाए हैं...

अरुणाचल के पूर्व सीएम के सुसाइड नोट में कई सनसनीखेज खुलासे

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कालिखो पुल की 9 अगस्त, 2016 को  फांसी लगाने की खबर ने पूरे देश को हिलाकर रख रख दिया था।

कालिखो पुल ने खुदकुशी करने के एक दिन पहले  60 पन्ने का एक सुसाइड नोट लिखा था जिसमें उन्होंने संवैधानिक पदों पर बैठे कई लोगों पर गंभीर आरोप लगाया था. जिसमें वर्तमान मुख्यमंत्री पेमा खांडू, उपमुख्यमंत्री चोवना मेन समेत प्रदेश के प्रमुख नेताओं के नाम भी हैं।

यह सुसाइड नोट कालिखो के मृत शरीर के पास मिला था जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया था और सुसाइड नोट में जो कुछ लिखा था वह एक राज बनकर रह गया था।

वेबसाइट 'द वायर'  में छपी खबर के मुताबिक इस पत्र में भाजपा और कांग्रेस के नेताओं सहित कई लोगों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए हैं. पुल खुद एक कांग्रेसी नेता थे, जो 2015 में कांग्रेस के ही नबाम तुकी की सरकार के खिलाफ बगावत करके मुख्यमंत्री बने थे.

गौरतलब है कि पुल ने 13 जुलाई 2016 को कोर्ट का फैसला आने के बाद इस्तीफा दे दिया. और फिर लगभग महीने भर के भीतर आत्महत्या कर ली.

पुल का मानना था कि सुप्रीम कोर्ट का नबाम तुकी के पक्ष में फैसला देना गलत था. पुल के अनुसार तुकी ने अपने पूर्व सहयोगी पेमा खांडू, जो अब भाजपा में हैं और उनके पिता स्वर्गीय दोरजी खांडू के साथ मिलकर कई सालों तक राजकोष का दुरुपयोग किया है. इसमें भी खासकर वो धन जो सार्वजानिक वितरण प्रणाली और रिलीफ फंड के रूप में आया था.

उन्होंने सवाल किया है कि इन नेताओं और विधायकों को इतने बड़े पैमाने पर इतनी निजी संपत्ति इकट्ठा करने का अधिकार कैसे मिलता है.

इस नोट में लिखी जो बात सबसे ज्यादा परेशान करती है वो ये कि 2016 में सुप्रीम कोर्ट का फैसला उनके (पुल के) पक्ष में मोड़ने के लिए कुछ दलालों ने उनसे एक बड़ी धन राशि की मांग की थी.