सिर्फ 7 मिनट में लोन देगी यह माइक्रोफाइनैंस कंपनी

माइक्राफाइनैंस कंपनी भारत फाइनैंशल इन्क्लूजन ने अपने क्रेडिट सिस्टम को नैशनल डेटाबेस से जोड़ दिया है, इस सिस्टम के तहत लोन अप्रूवल 7 दिन की बजाय महज 7 मिनट में हो सकेगा...

सिर्फ 7 मिनट में लोन देगी यह माइक्रोफाइनैंस कंपनी

भारत की दूसरी सबसे बड़ी माइक्राफाइनैंस कंपनी भारत फाइनैंशल इन्क्लूजन ने अपने क्रेडिट सिस्टम को नैशनल डेटाबेस से जोड़ दिया है। इससे कंपनी जरूरतमंद लोगों को तेजी से लोन मुहैया करा सकेगी। पूर्व में एसकेएस माइक्रोफाइनैंस नाम से काम करने वाली कंपनी ने जयपुर से करीब 70 किलोमीटर दूर स्थित देवगांव के ग्रामीणों को को आधार से जुड़े फायदे पहुंचाने के लिए चुना है। इस प्रयोग के जरिए ट्रांजैक्शंस की लागत में 70 बेसिस पॉइंट्स की कमी आएगी। यह कंपनी 19.75 पर्सेंट सालाना की दर से लोन मुहैया कराती है, जो माइक्रो फाइनैंस सेक्टर में देश में सबसे कम है।

भारत में माइक्रो लोन कर्जधारकों की मांग करीब 2 खरब अमेरिकी डॉलर की है, जो समानांतर इकॉनमीज के मुकाबले काफी अधिक है। देश में कर्ज की दरें 8.5 पर्सेंट सालाना से शुरू होती हैं। आमतौर पर यह रेट होम लोन पर लागू होता है।  इस सिस्टम के तहत लोन अप्रूवल 7 दिन की बजाय महज 7 मिनट में हो सकेगा।

देश के 16 राज्यों में भारत फाइनैंशल के करीब 66 लाख कस्टमर हैं। कंपनी ने ग्रॉस लोन पोर्टफोलियो में इयर-ऑन-इयर 38 पर्सेंट की ग्रोथ हासिल की है। कंपनी का कहना है कि आधार लिंक करने से सीधे कर्जधारकों के खाते में अमाउंट ट्रांसफर किया जा सकेगा।