IND-AUS टेस्ट: 13 साल बाद अपने ही घर में ऑस्ट्रेलिया से हारी भारतीय टीम

ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच खेले जा गए टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ सीरीज का पहला टेस्ट मैच 333 रन से जीत लिया है। दूसरी इनिंग में शर्मानाक परफॉर्म करते हुए टीम इंडिया 107 रन पर ढेर हो गई। इस दौरान केवल 4 बैट्समैन ही दो अंकों में रन बना सके...

IND-AUS टेस्ट: 13 साल बाद अपने ही घर में ऑस्ट्रेलिया से हारी भारतीय टीम

ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच खेले गए टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ सीरीज का पहला टेस्ट मैच 333 रन से जीत लिया है। दूसरी इनिंग में भारतीय टीम खराब प्रदर्शन देते हुए 107 रन पर ढेर हो गई। इस दौरान केवल 4 बैट्समैन ही दो अंकों में रन बना सके। ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर स्टीव ओकीफे ने मैच में करियर बेस्ट बॉलिंग करते हुए 12/70 विकेट लिए। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया दूसरी इनिंग में 285 रन पर ऑलआउट हो गई थी। पहली इनिंग की लीड (155 रन) मिलाकर ऑस्ट्रेलिया ने जीत के लिए भारत को 441 रन का टारगेट दिया था।

बता दें कि मेहमान टीम को 13 साल बाद भारतीय जमीन पर टेस्ट मैच में जीत हासिल हुई है। इस मैच से पहले ऑस्ट्रेलिया ने 2004 में भारत में आखिरी जीत हासिल की थी। इसके बाद हुए अगले तीन भारतीय दौरों में ऑस्ट्रेलियाई टीम को एक भी टेस्ट जीत नहीं मिली थी। विराट की कप्तानी में टीम इंडिया को 19 टेस्ट मैच के बाद हार मिली है। आखिरी स्कोर में भारत 105 और 107 रनों पर सीमटी जबकि ऑस्ट्रेलिया ने 260 और 285 रन बनाए।

साथ ही टीम इंडिया को पहला झटका 5वें ओवर में ही लग गया था जब स्टीव ओकीफे ने मुरली विजय (2) को lbw कर दिया। अगले ही ओवर में दूसरा विकेट भी गिर गया। 5.3 ओवर में नाथन लियोन ने लोकेश राहुल (10) को lbw आउट किया। मुरली विजय और लोकेश राहुल दोनों ने आउट होने के बाद रिव्यू का इस्तेमाल किया और दोनों रिव्यू बर्बाद हो गए। विराट कोहली (13) के रूप में भारत को तीसरा झटका लगा। स्टीव ओकीफे ने 16.2 ओवर में उन्हें बोल्ड कर दिया। भारत का चौथा विकेट 22.3 ओवर में अजिंक्य रहाणे (18) के रूप में गिरा। कीफे की बॉल पर नाथन लियोन ने उनका कैच लिया। पांचवां विकेट आर. अश्विन का रहा। 24.4 ओवर में कीफे की बॉल पर वे lbw आउट हो गए। जब ग्राउंड अंपायर ने अश्विन को आउट नहीं दिया, तो ऑस्ट्रेलिया ने रिव्यू लिया जिसमें वे आउट निकले।

वहीं 28.2 ओवर तक भारत का स्कोर 99/5 रन था। लेकिन इसके बाद 107 रन तक पहुंचते-पहुंचते पूरी टीम आउट हो गई। कीफे ने 28.3ओवर में साहा को lbw करते हुए भारत को छठा झटका दिया। अगला विकेट पुजारा (31) का रहा। वे 28.5 ओवर में कीफे की बॉल पर lbw हो गए। 31.4 ओवर में जडेजा (3) लियोन की बॉल पर बोल्ड हो गए। इसी ओवर की आखिरी बॉल पर इशांत (0) ने वॉर्नर को कैच दे दिया।आखिरी विकेट जयंत यादव (5) का रहा। वे 33.5 ओवर में लियोन की बॉल पर वेड के हाथों कैच आउट हो गए।

बता दें कि ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर स्टीव कीफे ने इस मैच में टेस्ट करियर का बेस्ट परफॉर्मेंस देते हुए 12 विकेट लिए। पहली इनिंग में उन्होंने 6/35 विकेट झटके, तो वहीं दूसरी इनिंग में भी उन्होंने 6/35 विकेट लिए। इस तरह इस मैच में उन्होंने 12 विकेट लिए, जो कि उनके करियर का बेस्ट फिगर है। इस मैच से पहले तक एक मैच में उनकी बेस्ट परफॉर्मेंस 4/103 विकेट थी।

तीसरे दिन सुबह ऑस्ट्रेलिया ने 143/4 रन से आगे खेलना शुरू किया और उसके बाकी बैट्समैन इस स्कोर में 142 रन और जोड़कर आउट हो गए। मेहमान टीम की ओर से दूसरी इनिंग में स्टीव स्मिथ (109) ने सेन्चुरी लगाई। उनके अलावा मेट रेनशॉ (31), मिशेल मार्श (31) और मिशेल स्टार्क (30) हाइएस्ट स्कोरर रहे। भारत के लिए दूसरी इनिंग में आर. अश्विन ने 4, जडेजा ने 3 और उमेश ने 2 विकेट लिए। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने पहली इनिंग में 260 रन बनाने के बाद भारत को 105 पर ऑलआउट कर दिया था। पहली इनिंग में ऑस्ट्रेलिया को 155 रन की लीड मिली, दूसरी इनिंग के 285 रन मिलाकर भारत को 441 रन का टारगेट मिला है।

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने इस मैच में टेस्ट करियर की 18वीं सेन्चुरी लगाई। वे 109 रन बनाकर आउट हुए। अपनी इनिंग में उन्होंने 202 बॉल खेली और 11 चौके लगाए। उन्होंने अपने 100 रन 187 बॉल पर पूरे किए थे। भारत के खिलाफ ये उनकी पांचवीं सेन्चुरी रही। इस मैच में उन्हें 4 बार जीवनदान भी मिले। इस दौरान मुरली विजय, अभिनव मुकुंद (दो बार) और अजिंक्य रहाणे ने उनके कैच टपकाए।