भारत-इजरायल बनाएंगे मिसाइल, 17000 करोड़ के सौदे को हरी झंडी

केंद्र सरकार ने सेना के लिए इजरायल के साथ हवा में मार करने वाली मध्यम श्रेणी की मिसाइल (एमआरएसएएम) संयुक्त रूप से विकसित करने के लिए 17000 करोड़ रूपये के सौदे को मंजूरी दे दी है।

भारत-इजरायल बनाएंगे मिसाइल, 17000 करोड़ के सौदे को हरी झंडी

केंद्र सरकार ने सेना के लिए इजरायल के साथ हवा में मार करने वाली मध्यम श्रेणी की मिसाइल (एमआरएसएएम) संयुक्त रूप से विकसित करने के लिए 17000 करोड़ रूपये के सौदे को मंजूरी दे दी है। यह भारत का इजरायल के साथ तेजी से बढ़ते रक्षा संबंधों को प्रतिबिंबित करता है।

अंतरराष्ट्रीय मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक इस परियोजना को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) और इजरायली एयरक्राफ्ट इंडस्ट्री (आईएआई) द्वारा तैयार किया जाएगा।

वहीं सौदे को मंजूरी पीएम नरेंद्र मोदी की इस साल में इजरायल की संभावित यात्रा से पहले दी है। भारत-इजरायल के बीच 2017 में कूटनीतिक संबंध स्थापना की 25वीं वर्षगांठ है।

प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में सुरक्षा पर कैबिनेट समिति की गत बुधवार को हुई बैठक में मिसाइल सौदे को मंजूरी प्रदान की गई है।

बता दें कि एमआरएसएएम नौसेना के लिये सतह से हवा में मार करने वाली लंबी श्रेणी की मिसाइल (एलआरएसएएम) का भूमि आधारित संस्करण है, जिसकी मारक क्षमता 70 किलोमीटर तक होगी।