पाकिस्तान के परमाणु बयान पर भारत ने दी कड़ी प्रतिक्रिया, कहा- काेरी कल्पना

पड़ाेसी देश पाकिस्तान ने दावा किया है कि भारत एक गुप्त परमाणु शहर का निर्माण कर रहा है और उसने परमाणु हथियरों का भंडार एकत्र कर लिया है। वहीं भारत ने पाकिस्‍तान के इस आरोप का खंडन कर पाकिस्तान की इस आराेपाें काे कोरी कल्‍पना करार दिया है।

पाकिस्तान के परमाणु बयान पर भारत ने दी कड़ी प्रतिक्रिया, कहा- काेरी कल्पना

पड़ाेसी देश पाकिस्तान ने दावा किया है कि भारत एक गुप्त परमाणु शहर का निर्माण कर रहा है और उसने परमाणु हथियरों का भंडार एकत्र कर लिया है। जो दक्षिण एशिया के सामरिक संतुलन को कमजोर करने का खतरा पैदा करता है। वहीं भारत ने पाकिस्‍तान के इस आरोप का खंडन कर पाकिस्तान की इस आराेपाें काे कोरी कल्‍पना करार दिया है और कहा है कि आतंकवाद को समर्थन देने के अपने रिकॉर्ड की तरफ से ध्‍यान हटाने के लिए वह ऐसे आरोप लगा रहा है। पाकिस्तान के विदेश विभाग के प्रवक्ता नफीस जकरिया ने यह बात प्रेस संवाददाताओं से बातचीत के दौरान  कहा कि भारतीय रक्षा निर्माण को लेकर चिंता जताई। उन्होंने कहा, ‘भारत गुप्त परमाणु शहर का निर्माण कर रहा है। उसने परमाणु हथियारों का जखीरा एकत्र कर लिया है जो क्षेत्र में सामरिक संतुलन को कमजोर करने का खतरा पैदा करता है।

मीडिया रिपाेर्टस के मुताबिक जकरिया ने यह भी आरोप लगाया कि भारत अंतर-महाद्वीपीय मिसाइलों को लेकर परीक्षण करता रहा है जो ‘क्षेत्र में सामरिक संतुलन को बिगाड़ेंगी। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक खतरनाक हथियार रखने के लिए चल रहे ‘भारतीय अभियान’ पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय को संज्ञान लेना चाहिए और उसके पारंपरिक और गैर पारंपरिक हथियारों के ‘तेजी से विस्तार’ पर अंकुश लगाना चाहिए।

इसी बात पर भारत ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पाकिस्तान के इन दावों को कपोल कल्पना करार दिया। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा, ‘ये बिल्कुल निराधार आरोप हैं। यह कथित गुप्त शहर लगता है पाकिस्तान की कपोल कल्पना है। भारत हमेशा अपने अंतरराष्ट्रीय दायित्वों का पालन करता रहा है। उन्होंने आगे कहा कि, भारत का बेहद अलग परिचय है। इसलिए, यह साफ तौर पर समझ-बूझ के अभाव को दर्शाता है। इस बात में तनिक भी संदेह नहीं है कि यह पाकिस्तान द्वारा ध्यान भटकाने का हथकंडा है, जिसका लक्ष्य पाक प्रायोजित आतंकवाद और आतंकवादियों को उसके पनाह देने के असली मुद्दे से ध्यान भटकाना है।