भारतीय अफसरों ने कराया ISIS के चंगुल से जख्मी डॉक्टर समेत 6 भारतीय को रिहा, सुषमा ने की तारिफ

भारत नें आईएसआईएस के चंगुल से एक डॉक्टर समेत उन सभी 6 भारतीयों को छुड़ा लिया है जिन्हें उन्होंने बंधक बना रखा था। इस बात की जानकारी खुद सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर दी है...

भारतीय अफसरों ने कराया ISIS के चंगुल से जख्मी डॉक्टर समेत 6 भारतीय को रिहा, सुषमा ने की तारिफ

भारत नें आईएसआईएस के चंगुल से एक डॉक्टर समेत उन सभी 6 भारतीयों को छुड़ा लिया है जिन्हें उन्होंने बंधक बना रखा था। इस बात की जानकारी खुद सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर दी है। साथ ही, लीबिया में भारतीय मिशन के अफसरों की भी तारीफ की। उन्होंने बताया कि बंधकों में डॉ. राममूर्ति कोसानम भी हैं, जिन्हें गोली लगी थी।

बता दें कि सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर बताया कि लीबिया में बंधक बनाए गए सभी छह भारतीयों को रिहा करा लिया गया है। बंधकों में डॉ. राममूर्ति कोसानम भी थे, जिन्हें गोली लगी थी। उन्हें जल्द ही भारत लाया जा रहा है। सुषमा ने लीबिया में भारतीय मिशन की इस मामले में तारीफ की है।

गौरतलब है कि डाॅ. राममूर्ति कोसानम को करीब 18 महीने पहले लीबिया में इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने अगवा कर लिया था। वह आंध्र प्रदेश में कृष्णा जिले के रहने वाले हैं। डाॅ. कोसानम लीबिया के सिर्ते के एक हॉस्पिटल में फिजिशियन थे। आईएस के एक ग्रुप ने इंजीनियर सामल प्रवाश रंजन समेत नौ लोगों को 8 सितंबर, 2015 को उनके घर से अगवा कर लिया था। तभी से भारतीय अफसर इन सभी को छुड़ाने की कोशिश कर रहे थे। डाॅ. कोसानम लीबिया में 1999 से रह रहे थे। लीबिया में भारतीय मिशन के अफसर भारतीय नागरिकों को सलाह देते रहे हैं कि वे यहां से चले जाएं।