सिक्का और संस्थापकों में तनातनी के बीच, फाउंडर्स ने उठाया विशाल सिक्का के वेतन का मुद्दा

कंपनी के फाउंडर्स एनआर नारायण मूर्ति, क्रिस गोपालकृष्णन और नंदन नीलकेणी ने कंपनी के बोर्ड को लेटर लिखकर इस पर चिंता जताई है। उन्होंने कंपनी के सीईओ विशाल सिक्का को मिलने वाले सालाना पैकेज पर भी सवाल उठाए हैं।

सिक्का और संस्थापकों में तनातनी के बीच, फाउंडर्स ने उठाया विशाल सिक्का के वेतन का मुद्दा

आईटी कंपनी इंफोसिस में एडमिनिस्ट्रेशन की खामियों को लेकर नाराजगी उभर रही है। कंपनी के फाउंडर्स एनआर नारायण मूर्ति, क्रिस गोपालकृष्णन और नंदन नीलकेणी ने कंपनी के बोर्ड को लेटर लिखकर इस पर चिंता जताई है। उन्होंने कंपनी के सीईओ विशाल सिक्का को मिलने वाले सालाना पैकेज पर भी सवाल उठाए हैं।

जानकारी के मुताबिक, फाउंडर्स ने सवाल उठाया है कि सिक्का को कंपनी के दो पूर्व अधिकारियों राजीव बंसल और डेविड कैनेडी से ज्यादा पैकेज क्यों दिया जा रहा है। इस पर इंफोसिस का कहना है कि ऐसे फैसले कंपनी की भलाई को देखते हुए लिए गए हैं। बोर्ड ने इस पर कंपनी के शेयरहोल्डर्स और प्रमोटर्स की सलाह भी ली है। उन्हें वक्त-वक्त पर गाइडलाइन भी जारी की जाती रहेगी।

अगस्त 2014 में इस पद पर आने के बाद से सिक्का की रणनीति इन्फोसिस के कर्मचारियों की परफॉर्मेंस और नैतिक मूल्यों में लगातार सुधार की रही है। उनका कहना है कि भारतीय आईटी क्षेत्र के पुराने बिजनस और इन्फ्रास्ट्रक्चर और बीपीओ के क्षेत्र में लाभांश धीरे-धीरे घटता जा रहा है। इसलिए कंपनी को नए नवोन्मेष और वैल्यू ऐडेड सर्विसेज पर अधिक ध्यान देना चाहिए।