नोटबंदी के बाद लिया 20,000 से ज्यादा का कैश गिफ्ट की होगी जांच

नोटबंदी के दौरान 20 हजार या उससे ज्यादा का नकद गिफ्ट या फिर डोनेशन लिया है। ऐसे लोगों को इस लेनदेन की जानकारी आयकर विभाग को देनी होगी और अगर विभाग दी गई जानकारी से संतुष्ट नहीं होता है तो जांच हो सकती है।

नोटबंदी के बाद लिया 20,000 से ज्यादा का कैश गिफ्ट की होगी जांच

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट उन लोगों के खिलाफ जांच कर सकता है जिन्होंने नोटबंदी के दौरान 20 हजार या उससे ज्यादा का नकद गिफ्ट या फिर डोनेशन लिया है। ऐसे लोगों को इस लेनदेन की जानकारी आयकर विभाग को देनी होगी और अगर विभाग दी गई जानकारी से संतुष्ट नहीं होता है तो जांच हो सकती है।

इनकम टैक्स विभाग ने नोटबंदी के बाद बड़े पैमाने पर अघोषित धन के हेरफेर की पड़ताल के लिए यह फैसला लिया है। इसके अलावा स्‍वच्‍छ धन अभियान के तहत इनकम टैक्‍स विभाग द्वारा एसएमएस या ई-मेल से पूछे गए सवालों का जवाब देने के लिए अंतिम तारीख को पांच दिन और बढ़ा दिया गया है। कालेधन को पकड़ने के लिए सरकार ने ‘स्वच्छ धन अभियान’ शुरू किया था।

इस लिस्ट में नाम होने पर 9 नवंबर के बाद जमा पैसों का हिसाब देना होगा। आपको ऑनलाइन जवाब देना होगा और 10 दिनों के भीतर जवाब देना होगा। हालांकि, आपको इनकम टैक्स विभाग के पास जाने की जरूरत नहीं होगी। यदि, 10 दिन में जवाब नहीं दिया तो नोटिस भेजा जाएगा। इस अवधि को आयकर विभाग ने 5 दिन के लिए बढ़ाकर 15 फरवरी कर दिया है।