पाकिस्तान: सूफी दरगाह में विस्फोट से 100 की मौत, 300 घायल

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के सहवान शहर में स्थित लाल शाहबाज कलंदर दरगाह के अंदर गुरुवार रात हुए बम धमाके में 100 लोगों की मौत हो गई और 300 से अधिक घायल हो गए।

पाकिस्तान: सूफी दरगाह में विस्फोट से 100 की मौत, 300 घायल

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के सहवान शहर में स्थित लाल शाहबाज कलंदर दरगाह के अंदर गुरुवार रात हुए बम धमाके में 100 लोगों की मौत हो गई और 300 के करीब घायल हो गए।

अंतरराष्ट्रीय मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आइएसआइ ने ली है। पाकिस्तान में एक सप्ताह के भीतर यह पांचवां आतंकी हमला है। आतंकी ‘सुनहरे गेट' से दरगाह के अंदर दाखिल हुआ और पहले उसने ग्रेनेड फेंका लेकिन वह नहीं फटा। यह धमाका सूफी रस्म ‘धमाल' के दौरान हुआ। बम धमाके के समय दरगाह के परिसर में सैकड़ों की संख्या में जायरीन मौजूद थे।

वहीं सहवान के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उसने अफरा-तफरी मचाने के लिए पहले ग्रेनेड फेंका और फिर खुद को उडा लिया।  अस्पताल लाया गया है। एदी फाउंडेशन के फैसल एदी ने कहा कि किसी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

सिंध प्रांत के गवर्नर सैयद मुराद अली शाह ने पाकिस्तानी सेना से आग्रह किया गया है कि वह रात में उड़ने वाले हेलीकॉप्टर मुहैया कराए ताकि शवों और घायलों को लाया जा सके। इससे पहले वरिष्ठ पुलिस अधिकारी तारिक विलायत ने बताया था कि शुरुआती रिपोर्ट से पता चलता है कि यह आत्मघाती विस्फोट है। विस्फोट दरगाह में महिलाओं के लिए आरक्षित क्षेत्र में हुआ।

गौरतलब हो कि तहरीक-ए-तालिबान अक्सर सूफी दरगाहों को निशाना बनाता है। साल 2005 से देश की 25 से अधिक दरगाहों पर हमले हुए हैं। हैदराबाद के आयुक्त काजी शाहिद ने कहा कि यह दरगाह दूरस्थ इलाके में स्थित है, ऐसे में हैदराबाद, जमशोरो, मोरो, दादू और नवाबशाह से एंबुलेंस, वाहनों और चिकित्सा दलों को मौके पर भेजा जा रहा है।