पाकिस्तान: तहमीना जांजुआ बनीं पहली महिला विदेश सचिव

यूएन में पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि सुश्री तहमीना जंजुआ पाकिस्तान की पहली महिला विदेश सचिव बन गई हैं।

पाकिस्तान: तहमीना जांजुआ बनीं पहली महिला विदेश सचिव

यूएन में पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि सुश्री तहमीना जंजुआ पाकिस्तान की पहली महिला विदेश सचिव बन गई हैं। उन्होंने भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित तथा चीन में पाकिस्तानी राजदूत मसूद खालिद को पछाड़ते हुये यह पद हासिल किया। एेसा पाकिस्‍तान में पहली बार  हुआ है जब व‍िदेश सचिव जैसे महत्‍वपूर्ण पद पर किसी महिला की तैनाती हुई है। वरिष्ठ राजनयिक तहमीना जांजुआ को बीते मंगलवार को पाकिस्तान का विदेश सचिव नियुक्त किया गया। वह 29वीं विदेश सचिव होंगी।

मीडिया रिपाेर्ट के अनुसार पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने कल सुश्री तहमीना को विदेश सचिव बनाने की घोषणा की। वह अगले महीने मार्च के पहले सप्ताह में अपना कार्यभार संभालेंगी। वह एजाज अहमद चौधरी की जगह लेंगी। विदेश मंत्रालय के अनुसार श्री चौधरी को नयी जिम्मेदारी के तहत अमेरिका में पाकिस्तान का राजदूत बनाया गया है।

वहीं पर विदेश कार्यालय ने कहा कि तहमीना निवर्तमान विदेश सचिव एजाज अहमद चौधरी का स्थान लेंगी। विदेश विभाग ने कहा, 'तहमीना जांजुआ मार्च, 2017 के पहले सप्ताह में विदेश सचिव का पदभार संभालेंगी। विदेश विभाग ने कहा कि वह संजीदा राजनयिक हैं और उनके पास 32 साल से अधिक का अनुभव है।

तहमाना के बारे कुछ मुख्य बातें  
तहमीना जांजुआ ने इस्लामाबाद स्थित कायद-ए-आजम विश्वविद्यालय और न्यूयॉर्क स्थित कोलंबिया विश्वविद्यालय से मास्टर डिग्री हासिल की। तहमीना दिसंबर, 2011 से अक्तूबर, 2015 तक इटली में पाकिस्तान की राजदूत रहीं। साल 2011 में वह पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता भी रहीं। तहमीना ने वर्ष 1984 में विदेश सेवा ज्‍वॉइन की थी। उसका अनुभव मुख्य रूप से बहुपक्षीय कूटनीति है। जांजुआ ने दिसंबर 2011 से अक्टूबर 2015 तक इटली में पाकिस्तान के राजदूत के तौर पर सेवा दी हैं। उनकी अन्य विदेशी पोस्टिंग के अलावा न्यूयॉर्क और जेनेवा में संयुक्त राष्ट्र में कार्यावधि भी है।