कश्मीर में हिंसा की तैयारी में पाकिस्तानी सेना!

पाकिस्तान कश्मीर में हिंसा भड़काने को लेकर नया नीति बना रहा है, अब पाक द्वारा पीओके के कम उम्र के बच्चों को निशाना बनाया जा रहा है। इनमें ज्यादातर वो युवा शामिल हैं जो घाटी के गांवों में रहते हैं।

कश्मीर में हिंसा की तैयारी में पाकिस्तानी सेना!

आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद का मुखिया मसूद अजहर आैर लश्कर-ए-तैयबा के चीफ हाफिज सईद पर भारत और अमेरिका के बढ़ते दबाव के बीच पाकिस्तान कश्मीर में हिंसा भड़काने को लेकर गतिविधि में जुड़ गई है। हाफिज सईद की पाक में नजरबंदी और अजहर पर बैन लगाने के कोशिशों के बावजूद भी पाक अधिकृत कश्मीर पीआेके से होने वाली आतंकी गतिविधियों में कोई खास बदलाव नहीं आया है। अब पाकिस्तान पीओके इलाके के गरीब और पिछड़ों इलाकों के छोटे बच्चों को जिहादी बनाने में जुट गया है।

मीडिया में आ रही एक एक रिपोर्ट के अनुसार पाक पहले की तरह ही भारत के खिलाफ आतंकवाद को बढ़ावा देने में लगा है। वहीं पर पाक इस बात से भी डरा हुआ है कि उसे अमेरिका से मिलने वाली आर्थिक मदद ना रोक दी जाए। इसीलिए अब पाकिस्तान नई रणनीति बना रहा है। जैश ए मोहम्मद पर बैन के डर से पाकिस्तान उसके जैसा एक नया संगठन बनाने की तैयारी शुरू कर चुका है।

अब पाक द्वारा पीओके के कम उम्र के बच्चों को निशाना बनाया जा रहा है। इनमें ज्यादातर वो युवा शामिल हैं जो घाटी के गांवों में रहते हैं। पाकिस्तान उन कश्मीरी युवाओं को लेकर भारत के खिलाफ लड़ाई के लिए एक आर्मी तैयार करना चाहता है जाे सेना पर पत्थर फेंककर अपना विरोध दर्ज करवाते हैं। पाकिस्तान का यह प्लान अभी शुरुआती स्तर पर है। अभी वह कश्मीर के युवाओं को भटका कर अपने साथ मिलाने की कोशिश में है। अगले चरण में उन लोगों को हथियार और बाकी सामान के लिए पैसे का इंतजाम किया जाएगा।

अखबार की रिपोर्ट के अनुसार जिन बच्चों को पाक तैयार कर रहा है उनमें से ज्यादातर को हथियार चलाना भी नहीं आता है। उन्हें जंगल, खराब मौसम जैसी कठिन परिस्थिति में रहने की आदत भी नहीं है। ज्ञात हाे कि कुछ दिनों पहले ही पाक सेना ने एक और उकसाने वाला काम किया है। पाकिस्तानी सेना ने बीते शनिवार को कश्मीर के पत्थरबाजों के साथ एकजुटता दिखाते हुए एक गाना रिलीज किया है। इस गाने का टाइटल 'संगबाज' रखा गया है। 'संगबाज' कश्मीर के पत्थरबाजों को कहा जाता है।