तमिलनाडुः पन्नीरसेलवम का सीएम पद से इस्तीफा, शशिकला पार्टी विधायक दल की नेता चुनी गईं

जयललिता के निधन के बाद मुख्यमंत्री बनाए गए पन्नीरसेलवम ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया।

तमिलनाडुः पन्नीरसेलवम का सीएम पद से इस्तीफा, शशिकला पार्टी विधायक दल की नेता चुनी गईं

जयललिता के निधन के बाद मुख्यमंत्री बनाए गए पन्नीरसेलवम ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया। पन्नीरसेलवम ने ये इस्तीफा जयललिता की बेहद करीबी रहीं शशिकला के विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद दिया। अब साफ हो गया है कि शशिकला तमिलनाडु की अगली मुख्यमंत्री बनेंगी। काफी दिनों से पार्टी के कार्यकर्ता शशिकला को सीएम बनाए जाने की मांग कर रहे थे।

ज्ञात हो कि आज विधायकों की बैठक बुलाई गई थी जिसमें शशिकला को विधायक दल का नेता चुना गया। नेतृत्व को लेकर एआईएडीएमके पार्टी में उपजे सत्ता विवाद को पार्टी के नेता सुलझाना चाहते थें।

बता दें कि शशिकला के मुख्यमंत्री बनने को लेकर जयललिता की भतीजी दीपा माधवन का कहना था कि ये फैसला सेना के तख्तापलट के बराबर होगा। साथ ही उन्होंने शशिकला की ताजपोशी पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि इस बात की उम्मीद तो काफी पहले से थी। अपनी निजी राय देते हुए उन्होंने कहा कि दीपा तमिलनाडु का एक हिस्सा है। तमिलनाडु के लोग यह फैसला स्वीकार नहीं करेंगे। तमिलनाडु के लोगों के लिए ऐसी बुरी स्थिति की कल्पना नहीं की थी।

गौरतलब है कि AIADMK पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के देहांत के बाद पार्टी में उपजे सत्ता के दो केंद्रों का विवाद खत्म करना चाहती थी। पार्टी इसके लिए शशिकला को सीएम बनाकर विवाद हल करने पर विचार कर रही थी। शशिकला राज्य की दिवंगत मुख्यमंत्री जयललिता की काफी करीबी सहयोगी थीं और उनके समर्थक भी इसी तर्क का हवाला देकर उन्हें सीएम पद का असल हकदार बताते हैं।

उधर पन्नीरसेल्वम के करीबी माने जाने वाले कई नौकरशाहों के हटाए जाने से भी मौजूदा मुख्यमंत्री के पर कतरे जाने का संकेत मिलता है। ऐसी ही अधिकारी शीला बालकृष्णन हैं, उन्होंने हाल ही में अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। वे तमिलनाडु सरकार की सलाहकार थीं और बीमारी की वजह से जयललिता के अस्पताल में भर्ती रहने के दौरान उन्होंने ही राजकाज संभाला था। इसके अलावा मुख्यमंत्री के दो सचिव के एन वेंकटारमन और ए रामालिंगम ने भी अपने पद से इस्तीफा दे चुके हैं।