कानपुर में राहुल-अखिलेश ने रैली को किया संबाेधित

यूपी चुनाव से पहले अखिलेश यादव और राहुल गांधी ने रविवार को कानपुर के जीआईसी ग्राउंड में साथ में चुनावी रैली की। राहुल ने कहा, "अगर हमारी सरकार आई तो मेक इन यूपी को बढ़ावा देंगे।" अखिलेश ने कहा, "साइकिल की रफ्तार पहले ही तेज थी

कानपुर में राहुल-अखिलेश ने रैली को किया संबाेधित

यूपी चुनाव से पहले अखिलेश यादव और राहुल गांधी ने रविवार को कानपुर के जीआईसी ग्राउंड में साथ में चुनावी रैली की। राहुल ने कहा, "अगर हमारी सरकार आई तो मेक इन यूपी को बढ़ावा देंगे।" अखिलेश ने कहा, "साइकिल की रफ्तार पहले ही तेज थी अब तो हाथ भी साथ है तो सोचो कितनी रफ्तार में चलेगी।" दोनों नेताओं ने स्कैम का नया मतलब समझाते हुए नरेंद्र मोदी को जवाब भी दिया। बता दें कि शनिवार को मेरठ में रैली के दौरान मोदी ने स्कैम का मतलब बताते हुए कांग्रेस और सपा पर हमला बोला था। अखिलेश-राहुल का कानपुर में तीसरा रोड शो होना था, लेकिन सुरक्षा वजहों से इसे टाल दिया गया। दोनों साथ में लखनऊ में पहला और आगरा में दूसरा रोड शो कर चुके हैं।


राहुल गांधी ने रैली में स्कैम का मतलब बताया। कहा, "एस से सर्विस, सी का मतलब करेज, ए का मतलब एबिलिटी और एम का मतलब मॉडेस्‍टी। शमशेर बहादुर के शब्‍दों में- मैं हिन्‍दी और उर्दू का दोआब हूं, मैं वो आइना हूं जिसमें आप हैं। राहुल बोले, "हमारे बारे में लोग कई बातें करते हैं। मैं फिराक गोरखपुरी के शब्‍दों में- हम दोनों में फर्क है बस इतना, एक कहता है ख्‍वाब, एक कहता है सपना। मोदी जी मेक इन इंडिया की बात करते हैं। और फोन पर लिखा है मेक इन चाइना। सपा की सरकार आएगी तो मेक इन सहारनपुर, मेक इन यूपी पर जोर देंगे।"


 रैली में राहुल ने यूथ के मेनिफेस्‍टो के लिए सुझाव भी दिया। कहा, "यूपी का हर युवा आईआईटी, आईआईएम, मेडिकल का एग्‍जाम देता है। हजारों कोचिंग होने के बाद भी गरीब युवा यहां जा नहीं सकता। क्‍यों नहीं हम हाई क्‍वालिटी के ट्रेनिंग सेंटर खोलें ताकि हर युवा इसका फायदा उठा सके। कानपुर को पहले मैनचेस्‍टर कहा जाता था। क्‍यों नहीं हम लोग जो छोटे फैक्‍ट्री चलाते हैं, उनकी मदद करें। मोदी ने विजय माल्‍या का 12 लाख करोड़ रुपए माफ किया।"



हालांकि राहुल मेनिफेस्‍टो की बात करते-करते भटक गए। 5 सुझाव देने की बात कही, लेकिन 2 ही बताए। कहा, "मोदी जी मुर्दाबाद के नारे मत लगाइए। आपमें जो गुस्‍सा है आप जाइए और वोट करके उनको हराइए। सपा और कांग्रेस को 300 सीटें जिताइए।"


 राहुल ने कहा, "किसानों के सामने मुश्किल समय है। मोदी जी उनको बोनस नहीं देते। मोदी जी बारिश होती है तो मुआवजा नहीं देते। जब हमने कर्जा माफी की बात की तो मोदी जी ने बजट में ऐसा नहीं किया। सरकार का विजन होना चाहिए कि यूपी को जूट फैक्‍ट्री बनाएं। क्‍यों नहीं किसानों को इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर सपोर्ट दें। यूपी के किसान की जिंदगी को बदल दें। जैसे बिहार चुनाव के बाद मोदी जी के मुंह से बिहार शब्द नहीं निकला था, यूपी चुनाव के बाद मोदी जी के मुंह से यूपी शब्द नहीं निकलेगा।"


 राहुल ने नोटबंदी पर भी निशाना साधा। कहा, "लाइन में कोई मोदी जी वाले सूट-बूट वाले लोग दिखाई दिए? लाइन में केवल गरीब लोग थे। मोदी जी आपने यूपी की गरीब जनता को चोट मारी है। आपने गरीब जनता के पेट पर लात मारी है। इस लात को लोग नहीं भूलने वाले हैं। मोदी जी की प्‍लानिंग थी कि हिन्‍दुस्‍तान के गरीब लोगों का पैसा बैंक में फंसा रहे और मैं अमीर लोगों का कर्ज माफ कर सकूं।"



वहीं पर इस ज्वाइंट रैली में अखिलेश बोले, "बीजेपी के सबसे बड़े नेता ने कहा है कि यूपी से स्‍कैम को हटाना है। उन्‍होंने समाजवादी, कांग्रेस, अखिलेश और हमारी बुआ का नाम भी ले लिया। हम कहते हैं कि बीएसपी का नाम क्‍यों लेते हो, उनके साथ तो आप सरकार बना चुके हो। अखिलेश ने कहा, "हमें भी देश बचाना है, यूपी बचाना है,  स्कैम यानी- सेव द कंट्री फ्रॉम अमित शाह एंड मोदी।"




अखिलेश ने कहा, "जिन्‍होंने विकास की बात की, उन्‍होंने लाइन में लगा दिया। ये जो नोट छपा है 2000 रुपए का। कानपुर वालों से पूछ लेते तो ये लोग बता देते कि अच्‍छा नोट कैसे छापना है। जिनकी मौत लाइन में लगने से हुई, उनकी समाजवादियों ने मदद की। एक बात सुनी होगी कि बैंक के लाइन में लगे-लगे बच्‍चा हो गया। घर वालों ने उसका नाम खजांची रख दिया। बीजेपी के लोग कई बार बहका देते हैं। इसलिए सावधानी से हमारी मदद करना।"