राहुल अभी मैच्योर नहीं हैं, उन्हें और वक्त दिया जाना चाहिएः शीला दीक्षित

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अभी मैच्योर नहीं हुए हैं उन्हें अभी और वक्त दिया जाना चाहिए।

राहुल अभी मैच्योर नहीं हैं, उन्हें और वक्त दिया जाना चाहिएः शीला दीक्षित

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अभी मैच्योर नहीं हुए हैं उन्हें अभी और वक्त दिया जाना चाहिए। अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिय को दिए इंटरव्यू में शीला दीक्षित से सवाल पूछा गया था कि राहुल गांधी के धुआंधार प्रचार के बावजूद भी कांग्रेस क्यों सिमटती जा रही है, इसके जवाब में पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि राहुल अभी मैच्योर नहीं हैं, उन्हें और वक्त दिया जाना चाहिए...। हालांकि उन्होंने आगे कहा कि सिर्फ राहुल गांधी ही एक नेता हैं जो किसानों के हितों के बारे में बात किया है।

शीला दीक्षित ने आगे कहा कि हम परिवर्तन के दौर से गुजर रहे हैं। पीढ़ी में परिवर्तन के साथ-साथ पिछले कई सालों में राजनीति भी बदल गई है। राजनीतिक भाषा भी काफी बदल गई है। उदाहरण के तौर पर देखें तो आप पीएम से ऐसी भाषा की उम्मीद नहीं रख सकते जो उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बारे में कही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस बदलते हुए माहौल में खुद को ढाल रही है।

राहुल गांधी को कितना वक्त देने के सावल के जवाब में शीला दीक्षित ने कहा कि उन्होंने काफी कुछ सीखा है। अभी तक वे प्रधानमंत्री इसलिए नहीं बन सके क्योंकि अभी ऐसा मौका आना बाकी है लेकिन वो लगातार मेहनत कर रहे हैं। वो लोगों से मिल रहे हैं और उन्हें पता है कि किसी से अपनी बात कैसे कहनी चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे लगता है वो जो भी करते हैं वो स्वाभाविक है लेकिन अगर किसी को ऐसा नहीं लगता तो आने वाले वक्त में उन्हें भी ऐसा लगेगा।

जब शीला दीक्षित से पूछा गया कि आप गठबंधन के लिए प्रचार नहीं कर रही हैं? तो उन्होंने कहा, यह कहना गलत होगा कि मैं प्रचार नहीं कर रही। मैं जब से वापस आयी हूं पार्टी ने मुझे जो काम दिया मैंने किया है। उन्होंने कहा कि मुझे कानपुर और बनारस जाना था लेकिन मेरी तबीयत खराब हो गई जिसके चलते नहीं जा सकी। अभी मैं ठीक हूं और जल्द ही बनारस जाऊंगी।