रजनीकांत बनाएंगे अपनी पार्टी, बीजेपी का मिलेगा साथ!

साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत खुद की राजनीतिक पार्टी बना सकते हैं, जिसमें उन्हें बीजेपी का समर्थन मिलने की उम्मीद है। आरएसएस विचारक एस गुरुमूर्ति रजनीकांत को नई पार्टी बनाने के लिए कर रहे हैं प्रेरत।

रजनीकांत बनाएंगे अपनी पार्टी, बीजेपी का मिलेगा साथ!

तमिलनाडु में राजनीतिक संकट अभी भी बरकरार है। साउथ के सुपरस्टार कह जाने वाले रजनीकांत राजनीति की दुनिया में कदम रख सकते हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, रजनीकांत खुद की राजनीतिक पार्टी बना सकते हैं, जिसमें उन्हें बीजेपी का साथ मिल सकता है, जो दक्षिण भारत के इस राज्य में अपनी पहुंच बनाने की कोशिश कर रही है।

जानकारी से अनुसार, 66 साल के रजनीकांत को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के विचारक एस गुरुमूर्ति नई पार्टी बनाने के लिए प्रेरत कर रहे हैं। जानकारों का मानना है कि तमिलनाडु में मौजूदा राजनीतिक स्थिति से रजनीकांत काफी नाखुश हैं, और यही वजह है कि उनके राजनीति में आने को लेकर कयास तेज हो गए हैं।

सूत्रों के मुताबिक, एस गुरुमूर्ति बीजेपी और रजनीकांत को एक मंच पर लाने के लिए अहम भूमिका निभा रहे हैं। गुरुमूर्ति के अनुसार तमिलनाडु में रजनीकांत को हर उम्र के लोग पसंद करते हैं और मौजूदा काल में जिस दौर से राज्य की राजनीति गुजर रही है, ऐसे में रजनीकांत को राजनीति में आने से वो बड़ी ताकत बनकर उभरेंगे।

उल्लेखनीय है कि बीजेपी की तमिलनाडु में पैठ न के बरारबर है। ऐसे में वो राज्य में अपनी जगह बनाने के लिए रजनीकांत को राजनीति से जुड़ने के लिए मनाने में जुटी हुई है। पार्टी सूत्रों की मानें तो जयललिता के निधन के बाद बीजेपी की इस कोशिश में तेजी आ गई है। हालांकि, साल 2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद भी रजनीकांत ने राजनीति में सक्रिय रूप से शामिल होने से परहेज किया था।

महानायक अमिताभ बच्चन अपने राजनीतिक अनुभव के आधार पर रजनीकांत को सक्रिय राजनीति में ना जाने की सलाह दी है। अमिताभ 80 के दशक में कांग्रेस के टिकट पर इलाहाबाद से लोकसभा सांसद चुने गए थे। अमिताभ और रजनीकांत ने कई फिल्मों में साथ-साथ काम किए हैं, जिसमें हम, गिरफ्तार और अंधा कानून है।