दुनिया के टॉप-50 बैंकों में शुमार होगा SBI

केन्द्र सरकार ने देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के साथ 5 सहायक बैंकों के मर्जर का ऐलान कर दिया है. इस फैसले के साथ ही स्टेट बैंक ऑफ इंडिया दुनिया के 50 बड़े बैंकों की सूची में पहुंच जाएगा.

दुनिया के टॉप-50 बैंकों में शुमार होगा SBI

केन्द्र सरकार ने देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के साथ 5 सहायक बैंकों के मर्जर का ऐलान कर दिया है. इस फैसले के साथ ही स्टेट बैंक ऑफ इंडिया दुनिया के 50 बड़े बैंकों की सूची में पहुंच जाएगा. वहीं देश में कुल बैंकिंग कारोबार का लगभग 25 फीसदी हिस्से पर एसबीआई की पकड़ बन जाएगी.

एसबीआई के मुताबिक इस मर्जर के साथ उसकी कुल संपत्ति (ऐसेट) में 36 फीसदी का इजाफा होगा. अनुमान के मुताबिक मर्जर के बाद 30 ट्रिलियन रुपया अथवा 447 बिलियन अमेरिकी डॉलर की हो जाएगी.

मर्जर के साथ ही एसबीआई के ग्राहकों की संख्या 50 करोड़ का आंकड़ा पार कर लेगी. वहीं मर्जर किए गए पांचों बैंक के सभी ब्रांच और एटीएम एसबीआई की ब्रांच और एटीएम की संख्या को बढ़ा देंगे.
इस मर्जर से एसबीआई को उम्मीद है कि वह दुनिया के 50 बड़े बैंकों की सूची में 44वें स्थान पर पहुंच जाएगा. फिलहाल दुनिया के बड़े बैंकों का आंकड़ा देखें तो टॉप के चार बैंक चीन के हैं. ये बैंक हैं इंडस्ट्रियल और कॉमर्शियल बैंक ऑफ चाइना, चाइना कंस्ट्रक्शन बैंक, एग्रीकल्चरल बैंक ऑफ चाइना और बैंक ऑफ चाइना लिमिटेड.

447 बिलियन अमेरिकी डॉलर नेट ऐसेट के साथ 50 बड़ें बैंकों में शुमार होने वाली एसबीआई के सामने चीन का इंडस्ट्रियल और कॉमर्शियल बैंक ऑफ चाइना अपने 3,320 बिलियन अमेरिकी डॉलर के नेट ऐसेट के साथ पहले नंबर पर है. वहीं 50 बैंकों की लिस्ट में मौजूद चीन के ही दूसरे और तीसरे बड़े बैंक का नेट ऐसेट क्रमश: 2,697 बिलियन अमेरिकी डॉलर और 2,573 बिलियन अमेरिकी डॉलर है.