आईएसआई के इशारे पर सेना की जासूसी, 11 लोग गिरफ्तार

बुधवार को उत्तर प्रदेश एटीएस की टीम ने राजधानी दिल्ली के पंजाबी बाग इलाके में FIITJEE के कार्यालाय पर छापा मारा। इस मामले में ATS ने 11 लोगों को गिरफ़्तार किया है।

आईएसआई के इशारे पर सेना की जासूसी, 11 लोग गिरफ्तार

बुधवार को उत्तर प्रदेश एटीएस की टीम ने राजधानी दिल्ली के पंजाबी बाग इलाके में FIITJEE के कार्यालाय पर छापा मारा। इस मामले में ATS ने 11 लोगों को गिरफ़्तार किया है। ज्ञात हो कि एटीएस की टीम ने पिछले महीने 24 तारीख को दिल्ली से अवैध तरीक के इंटरनेशनल टेलीफोन एक्सचेंज चलाने के मास्टरमाइंड गुलशन कुमार को गिरफ्तार किया था। गुलशन पर आरोप है कि वह अवैध तरीके से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर इंटरनेशनल टेलीफ़ोन एक्सचेंज चला रहा था। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गुलशन अफ़गानिस्तान में नाटो के लिए काम कर चुका है। अब वह सिम बॉक्स के जरिए सेना की जासूसी के कामों में लगा था। इस मामले में एजेसी कई जगह अब भी छापे मार रही है।

गुलशन लंबे समय तक अफगानिस्तान में रहकर नाटो सेना के लिए साइबर क्राइम के लिए काम कर चुका है। दरअसल, जम्मू-कश्मीर मिलिट्री इंटेलीजेंस को जानकारी मिली थी कि कुछ भारतीय नंबरों से जासूसी करने के मकसद से आर्मी यूनिट्स पर कॉल आ रहे हैं। यह जानकारी उत्तर प्रदेश एटीएस को दी गई और जब एटीएस ने इन नंबरों की जांच की तो पाया कि अवैध टेलफोन एक्सचेंज के माध्यम से भारत के बाहर से कॉल किए जा रहे हैं और डिस्पले पर भारत का ही नंबर दिखता है।

रिपोर्ट के मुताबिक एटीएस के सीओ अनूप कुमार ने बताया कि अब तक 24 फर्जी टेलीफोन एक्सचेंज का पता लगाया जा चुका है। इससे टेलीकॉम डिपार्टमेंट को करीब दो करोड़ से ज्यादा का नुकसान हुआ ही है, साथ ही इसके जरिए वह देश की सुरक्षा के बारे में अहम जानकारियां भी जुटा रहा था। इसका एक सर्वर अमेरिका में भी है।