तेलंगाना: सीएम ने दान की तिरुमाला तिरुपति मंदिर में 5 करोड़ की ज्वैलरी

तेलंगाना के सीएम चंद्रशेखर राव ने आंध्र प्रदेश के तिरुमाला तिरुपति मंदिर में 5 करोड़ रुपये की सोने की ज्वैलरी दान में चढ़ाई है। उन्होंने यह दान पृथक तेलंगाना राज्य बनने की खुशी में दिया है...

तेलंगाना: सीएम ने दान की तिरुमाला तिरुपति मंदिर में 5 करोड़ की ज्वैलरी

तेलंगाना के सीएम चंद्रशेखर राव ने आंध्र प्रदेश के तिरुमाला तिरुपति मंदिर में 5 करोड़ रुपये की सोने की ज्वैलरी दान में चढ़ाई है। उन्होंने यह दान पृथक तेलंगाना राज्य बनने की खुशी में दिया है। राव ने मंदिर में विशेष पूजा अर्चना की जिसमें यह ज्वैलरी भगवान वेंकटेश्वर पर चढ़ाई।

बता दें कि मुख्यमंत्री बनने के बाद चंद्रशेखर राव पहली बार तिरुमाला मंदिर आए थे। राव के साथ इस पूजा में उनके परिवार के लोग और कैबिनेट के मंत्री भी शामिल थे। तेलंगाना सरकार के अडवाइजर के वी रमानाचारी ने कहा कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने पृथक तेलंगाना के लिए मन्नत मांगी थी। इसीलिए अलग राज्य बनने के बाद उन्होंने भगवान वेंकटेश्वर पर यह चढ़ावा चढ़ाया है।

गौरतलब है कि राव के इस चढ़ावे में लगभग 3.7 करोड़ रुपये की कीमत का 14.20 किलोग्राम का सालिग्राम नेकलेस और 1.2 करोड़ का 4.65 किलोग्राम का कांटा अभ्रनम शामिल है। भगवान वेंकटेश्वर पर इस पांच करोड़ के चढ़ावे के अलावा राव ने अन्य देवताओं पर भी कुल 59 लाख रुपये का चढ़ावा चढ़ाया है।

वहीं दूसरी ओर, राव द्वारा सरकारी पैसे की बर्बादी के आरोप लग रहे हैं और उनके इस कदम की सख्त आलोचना की जा रही है। विरोधियों का कहना है कि केवल अपनी निजी मन्नत पूरी होने के लिए राव पब्लिक फंड की बर्बादी कर रहे हैं। बता दें कि इससे पहले, अक्टूबर 2016 में मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने वारंगल के भद्रकाली मंदिर में भी 11.2 किलोग्राम सोने का मुकुट भेंट किया था जिसकी कीमत 3.5 करोड़ रुपये थी।

साथ ही ऐसा कहा जा रहा है कि आने वाले दिनों में सीएम वारंगल के वीरभद्र स्वामी मंदिर जाने वाले हैं और वहां सोने की मूंछें भेंट करने वाले हैं। विपक्ष, राव द्वारा इस तरह पब्लिक फंड को बर्बाद किए जाने का सख्त विरोध कर रहा है। राव पहले भी ऐसे विवादों में घिरे थे जब उन्होंने 50 करोड़ की कीमत में 9 एकड़ में अपना आलीशान बंगला बनवाया था।