साल 2017 का पहला चंद्र ग्रहण कल सुबह 4 बजे

इस साल का पहला ग्रहण 11 फरवरी को लगेगा। यह उपच्छाया चंद्रग्रहण से शुरू होगा। वर्ष 2017 का यह पहला ग्रहण भारत में दिखाई देगा...

साल 2017 का पहला चंद्र ग्रहण कल सुबह 4 बजे

साल 2017 का पहला चंद्र ग्रहण 11 फरवरी शनिवार को सुबह 4 बजे लगने वाला है।  साल का यह पहला चंद्र ग्रहण उपछाया चंद्रग्रहण है जिस कारण इसका कोई खास प्रभाव नहीं होगा। लिहाजा इस चंद्र ग्रहण का सूतक भी मान्य नहीं होगा।

11 फरवरी को सुबह 4 बजकर 4 मिनट पर चंद्र ग्रहण शुरू होगा। इसका अधिकतम समय 11 फरवरी को सुबह 6 बजकर 13 मिनट पर होगा और इस ग्रहण की समाप्ति 11 फरवरी शनिवार को सुबह 8 बजकर 23 पर मिनट होगी।

उपच्छाया चंद्रग्रहण तब लगता है, जब चंद्रमा पेनुम्ब्रा (ग्रहण के वक्त धरती की परछाई का हल्का भाग) से होकर गुजरता है। इस समय चंद्रमा पर पड़ने वाली सूर्य की रोशनी आंशिक तौर पर कटी प्रतीत होती है और ग्रहण को चंद्रमा पर पड़ने वाली धुंधली परछाई के रूप में देखा जा सकता है।

जिसे खुली आंखों से नहीं देखा जा सकेगा। लेकिन खगोलविद टेलिस्कोप के जरिए इसे देख सकते हैं। चंद्र ग्रहण का प्रवेश 11 फरवरी की सुबह 4 बजकर 10 मिनट पर होगा। फरवरी 2017 में ही सूर्य ग्रहण भी लगने वाला है जो 26 फरवरी को पड़ेगा। लेकिन यह सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा।

चंद्र ग्रहण से जुड़ी खास बातें

- चंद्र ग्रहण केवल पूर्णिमा को घटित हो सकता है।

- चंद्र ग्रहण का प्रकार और अवधि चंद्रमा की स्थिति पर निर्भर करते हैं।

- चंद्र ग्रहण को खुली आंखों से देखा जा सकता है क्योंकि इससे आंखों को नुकसान नहीं होता।
- सूर्य ग्रहण की तरह ही चंद्र ग्रहण भी आंशिक और पूर्ण हो सकता है।

कहां-कहां दिखेगा ग्रहण
नासा के मुताबिक भारत, यूरोप, एशिया, अफ्रीका, उत्तरी अमेरिका, दक्षिण अमेरिका, प्रशांत महासागर, अटलांटिक महासागर, हिंद महासागर, आर्कटिक, अंटार्कटिका के ज्यादातर हिस्सों में यह चंद्र ग्रहण नजर आएगा।