मोदी सरकार ने पठानकोट हमले से नहीं लिया सबकः संसदीय समिति

पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक के लिए सीना ठोंकने वाली केंद्र की मोदी सरकार को सुरक्षा मामलों की संसदीय समिति ने उनकी आतंक रोधी नीति पर कड़ी फटकार लगाई है। समिति ने कहा कि सरकार आतंकी हमलों को रोकने में असफल रही हैं और पठानकोट जैसे आतंकी हमले से भी कोई सबक नहीं लिया है।

मोदी सरकार ने पठानकोट हमले से नहीं लिया सबकः संसदीय समिति

पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक के लिए सीना ठोंकने वाली केंद्र की मोदी सरकार को सुरक्षा मामलों की संसदीय समिति ने उनकी आतंक रोधी नीति पर कड़ी फटकार लगाई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक समिति ने कई कमियों को गिनाते हुए कहा कि सरकार आतंकी हमलों को रोकने में असफल रही हैं और पठानकोट जैसे आतंकी हमले से भी कोई सबक नहीं लिया है।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम की अध्यक्षता वाली समिति ने बुधवार को राज्यसभा में एक रिपोर्ट पेश की है, जिसमें गृह मंत्रालय के कामकाज की समीक्षा की गई है। उसमें कई सवाल खड़े किए गए हैं। समिति के अनुसार यह बात उनकी समझ में नहीं आ रही है कि टेरर अलर्ट के बावजूद आतंकी पठानकोट एयर बेस में दाखिल होकर हमला करने में कामयाब कैसे हो गए।

वहीं समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि सुरक्षा में जो भी कमियां है उनको जल्द से जल्द दूर करने की जरूरत है। इसके साथ ही खुफिया सूचनाएं हासिल करने की प्रक्रिया और तकनीक में भी बदलाव की जरुरत है। सुरक्षा नेटवर्क को मजबूत बनाने और सुरक्षा प्रतिष्ठान-खुफिया सूचना एकत्र करने और साझा करने में गंभीर कमियों को दूर करने की आवश्यकता है, जो हाल के हमलों में सामने आ गया है।

इसके साथ ही समिति ने पठानकोट हवाई ठिकाने पर आतंकवादी हमले में पंजाब पुलिस की भूमिका पर भी सवाल खड़े किए। समिति ने कहा है कि पंजाब पुलिस के अधिकारी और उनके मित्रों का अपहरण सिर्फ आपराधिक लूटपाट नहीं थी, बल्कि यह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा होने जा रहा था इस निष्कर्ष पर पहुंचने में काफी समय लगा।