उदयन का खुलासा, मां-बाप को भी मारकर आंगन में गाड़ा

गर्लफ्रेंड की लाश पर चबूतरा बनाने वाले प्रेमी ने अपने मां-बाप की हत्या करने की बात भी कबूल की।

उदयन का खुलासा, मां-बाप को भी मारकर आंगन में गाड़ा

प्रेमिका की हत्या कर उसके शव को बक्से में डालकर सीमेंट का चबूतरा बनाने वाले आरोपी ने अपने मां-बाप की हत्या करने की बात भी कबूल की है। आरोपी उदयन दास (32) ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि रायपुर में 2011 में माता-पिता की हत्या करने के बाद उसने उनकी लाश घर के आंगन में ही दफ़ना दिया था।

पश्चिम बंगाल के बांकुरा में रहने वाले देवेंद्र कुमार शर्मा की बेटी आकांक्षा उर्फ श्वेता की 2007 में उदयन नाम के युवक से ऑरकुट पर दोस्ती हुई थी। जून 2016 में घर से नौकरी करने की बात कहकर आकांक्षा भोपाल आ गई। यहां वह उदयन के साथ रहने लगी। उसने परिवारवालों को बताया कि मैं अमेरिका में नौकरी कर रही हूं। जुलाई 2016 के बाद आकांक्षा के परिवारवालों से बात होनी बंद हो गई। भाई ने नंबर ट्रेस कराया तो लोकेशन भोपाल की निकली। परिवार के लोगों को शक था कि आकांक्षा उदयन के साथ रह रही है।

दिसंबर 2016 में आकांक्षा की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज हुई। एक महीने की जांच के बाद पुलिस उसके बॉयफ्रेंड उदयन के घर पहुंची। उदयन घर के अंदर मौजूद था, लेकिन बाहर ताला लगा रखा था। उसी ने अंदर से पुलिस को चाबी दी। पूछताछ में उसने आकांक्षा की हत्या की बात कबूली।

उदयन ने बताया कि 2011 में वो अपने मां-बाप का भी मर्डर कर चुका है। इसके बाद रायपुर में शांति नगर स्थित अपना मकान बेच दिया। आरोपी के मुताबिक, दोनों की लाशों को उसने आंगन में ही गाड़ दिया था। इस बीच, आकांक्षा का सुभाष नगर विश्राम घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान उसके परिवार के लोग मौजूद थे। DIG रमन सिंह सिकरवार के मुताबिक, आरोपी से पूछताछ के बाद एक टीम रायपुर भेजी जा रही है। यह साफ नहीं है कि क्या सही में उसने माता-पिता की हत्या की है और अगर ऐसा है तो उसकी वजह क्या है?