यूपी चुनाव: प्रधानमंत्री ने किया अलीगढ़ में रैली को संबोधित

यूपी विधानसभा चुनाव 2017 में सभी पार्टियां अपनी-अपनी सरकार बनाने के लिए ज़ोर शोर से दम लगा रही है। इसी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलीगढ़ में एक रैली को संबोधित किया। वहां पीएम ने कहा कि वह कल भी राज्य में आए थे...

यूपी चुनाव: प्रधानमंत्री ने किया अलीगढ़ में रैली को संबोधित

यूपी विधानसभा चुनाव 2017 में सभी पार्टियां अपनी-अपनी सरकार बनाने के लिए ज़ोर शोर से दम लगा रही है। इसी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अलीगढ़ में एक रैली को संबोधित किया। वहां पीएम ने कहा कि वह कल भी राज्य में आए थे। चुनाव अहम है। उन्होंने कहा कि 2014 में अलीगढ़ में इसी मैदान में रैली थी। मैदान आधा भी नहीं भरा था। लेकिन आज काफी लोग आए हैं। पीएम मोदी ने कहा कि यूपी की जनता परिवर्तन चाहती है। बीजेपी की आंधी है इसलिए यूपी के सीएम ने गठबंधन किया है।

बता दें कि पीएम मोदी ने कहा कि ये लड़ाई यूपी के लोगों को इंसाफ दिलाने के लिए है। पीएम ने कहा कि दिल्ली में सरकार बनने के बाद भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई शुरू कर दी। किसी की परवाह किये बिना भ्रष्टाचार के खिलाफ कदम उठाए जा रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि बेईमानों को छोड़ा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार अब हिसाब मांग रही है। उन्होंने कहा कि लोगों को कई जरूरतों के लिए सरकार से मदद के रुपये में पैसा मिलता होगा। उन्होंने कहा कि हमने बैंक अकाउंट के जरिए पैसे देने का नियम लागू किया। आधार कार्ड से जोड़ने को कहा। इसके बाद कई घोटाले सामने आए हैं। हमने कई योजनाओं में लोगों को सीधे पैसे पहुंचाने की व्यवस्था की है।

साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि 40000 करोड़ रुपये जो हर वर्ष चूहे खा जाते थे हमने उन्हें बचा लिया। अब यह पैसा गरीब के काम आएगा। जिससे रोजगार पैदा करने में मदद मिलेगी। पीएम मोदी ने गठबंधन पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह लोग चुनाव जीतने के लिए, भ्रष्टाचार के लिए साथ आए हैं। इन लोगों को डर है कि कहीं ऐसे कानून न बना दे कि चोर लुटेरे बच नहीं पाएंगे।

वहीं पीएम मोदी ने नोटबंदी का जिक्र करते हुए कहा कि इस आदेश पर तूफान सा मच गया। अब सबको घर में रखा पैसा बैंक में जमा कराना पड़ा। पीएम ने कहा कि बैंक में जमा करने से काला सफेद नहीं हुआ है। अभी जांच होगी। पीएम मोदी ने कहा कि पैसे गरीब के काम आए इस दिशा में काम हो रहा है।

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने कहा कि पहले अलीगढ़ के ताले पूरे हिंदुस्तान में बिकते थे। लेकिन, पिछले कई सालों में यूपी में ऐसी सरकारें रहीं कि अलीगढ़ का ताला यहीं का रह गया। यहां के कारखानों में ही ताला लग गया। क्योंकि लखनऊ में बैठी सरकार बिजली नहीं दे पाई।