माल्या को लोन दिलाने में UPA सरकार के अधिकारी ने की थी मदद

शराब कारोबारी विजय माल्या की बंद हो चुकी कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस को बैंक से कर्ज दिलाने में तत्कालीन यूपीए सरकार के दौरान एक अधिकारी ने उनकी मदद की थी।

माल्या को लोन दिलाने में UPA सरकार के अधिकारी ने की थी मदद

शराब कारोबारी विजय माल्या की बंद हो चुकी कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस को बैंक से कर्ज दिलाने में तत्कालीन यूपीए सरकार के दौरान एक अधिकारी ने उनकी मदद की थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इंडिया टुडे को मिले भगोड़े कारोबारी माल्या के ई-मेल्स में इस बात का खुलासा हुआ है।

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक इन ई-मेल्स से खुलासा हुआ है कि यूपीए सरकार के दौरान संयुक्त बैंकिंग सचिव रहे अमिताभ वर्मा ने विजय माल्या और सरकार-बैंकों के बीच मध्यस्थता कर किंगफिशर एयरलाइंस को डूबने से बचाने के लिए बेलआउट पैकेज दिलाने पर जोर लगाया था।

वहीं माल्या ने फरवरी 2009 में अपनी एयरलाइंस कंपनी के तत्कालीन मुख्य वित्तीय अधिकारी रवि नेदुंगड़ी को लिखे एक ई-मेल में बताया था कि सरकार ने किंगफिशर की पूरी मदद का भरोसा दिया है। इस मेल में लिखा हैं कि तब के बैंकिंग सचिव और एसबीआई-पीएनबी के तत्कालीन प्रमुख के बीच इसी महीने फरवरी 2009 में बैठक होने वाली है।

इसके बाद अगला ई-मेल 18 फरवरी 2009 का है, जिसमें माल्या लिखते हैं कि मैं आपको यह बताते हुए खुशी हो रही है कि मेरी प्रजेंटेशन के बाद वित्त मंत्रालय ने व्यापक वित्तीय पुनर्गठन के लिए मांगे गए पैकेज को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। इस मेल में माल्या आगे लिखते हैं कि उन्होंने मेरी मौजूदगी में मुख्य आर्थिक सलाहकार से कहा कि सरकार किंगफिशर की मदद करेगी और उन्होंने दिल्ली में 25-26 फरवरी को बैंकिंग सचिव और एसबीआई - पीएनबी के अध्यक्षों के साथ बैठक बुलाई है।