विराट कभी नहीं तोड़ सकेंगे धोनी का ये रिकॉर्ड!

आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ एमएस धोनी ही रहेंगे कप्तानी के बादशाह, विराट कोहली नहीं तोड़ पाएंगे उनका रिकॉर्ड...

विराट कभी नहीं तोड़ सकेंगे धोनी का ये रिकॉर्ड!

विराट कोहली अपने करियर के सबसे बेहतरीन दौर से गुजर रहे हैं। पुणे टेस्ट में हारने से पहले विराट की सेना विजय रथ पर सवार थे, उनकी कप्तानी में 19 टेस्ट में से टीम इंडिया को 17 में जीत मिली, जबकि 2 ड्रॉ रहे। आने वाले समय में विराट भले ही भारत के सफलतम टेस्ट कप्तान बन जाएं लेकिन अब वह बतौर कप्तान धोनी के एक रिकॉर्ड की बराबरी कभी नहीं कर पाएंगे। पुणे में हार के बाद उनके हाथ से यह मौका निकल गया।

वहीं पुणे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के हाथों 333 रन से हारने से पहले विराट की सेना विजय रथ पर सवार थे, उनकी कप्तानी में 19 टेस्ट में से टीम इंडिया को 17 में जीत मिली, जबकि 2 ड्रॉ रहे. आने वाले समय में विराट भले ही भारत के सफलतम टेस्ट कप्तान बन जाएं लेकिन अब वह बतौर कप्तान धोनी के एक रिकॉर्ड की बराबरी कभी नहीं कर पाएंगे. पुणे में हार के बाद उनके हाथ से यह मौका निकल गया.

धोनी ने साल 2008 में टेस्ट टीम की कमान अपने हाथ में ली थी. 2014 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने तक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घर पर एक भी मैच नहीं हारे. धोनी की कप्तानी में 2008-09 की सीरीज में टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2-0 से जीत मिली. साल 2010-11 में भी धोनी ने इसी जीत को दोहराया. साल 2012-13 में धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी कप्तानी में घर पर 4-0 से सूपड़ा साफ कर दिया. जिसमें चेन्नई टेस्ट में दोहरा शतक जड़कर धोनी ने अकेल के दम पर कंगारुओं को बैकफुट पर ढकेल दिया था. धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घर पर कुल 8 टेस्ट जीते हैं.

वहीं, साल 2012-13 में भारत दौरे पर आई आॅस्ट्रेलियाई टीम को टेस्ट सीरीज में 4-0 से क्लीन स्वीप का सामना करना पड़ा था। इसी सीरीज में महेंद्र सिंह धोनी ने टेस्ट मैचों में अपना इकलौता दोहरा शतक जड़ा था। वर्तमान टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में हार के साथ ही विराट कोहली अब महेंद्र सिंह धोनी के इस रिकॉर्ड को कभी नहीं तोड़ पाएंगे। पुणे में खेले गए इस मुकाबले में भारतीय टीम स्पिनरों की मददगार पिच पर पूरी तरह नतमस्तक हो गई और आॅस्ट्रेलिया के युवा स्पिनर स्टीव ओ कीफे ने मैच में कुल 12 विकेट लेकर ऐतिहासिक प्रदर्शन किया। भारत को आॅस्ट्रेलिया ने 333 रनों से हराकर चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर लिया। टेस्ट सीरीज का दूसरा मुकाबला 4 मार्च से बेंगलुरू में शुरू होगा।