बाबरी मस्जिद मामला: आडवाणी समेत 13 नेताओं की बढ़ सकती है मुश्किलें

बाबरी मस्जिद पर सुप्रीम कोर्ट ने विध्वंस मामले के अपराधिक मुकदमे में जो भी देरी हो रही है उसको लेकर चिंता जताई है...

बाबरी मस्जिद मामला: आडवाणी समेत 13 नेताओं की बढ़ सकती है मुश्किलें

बाबरी मस्जिद पर सुप्रीम कोर्ट ने विध्वंस मामले के अपराधिक मुकदमे में जो भी देरी हो रही है उसको लेकर चिंता जताई है। कोर्ट ने सीबीआई से पूछा कि क्या लखनऊ और रायबरेली के मुकदमों को एक ही कोर्ट में चलाया जा सकता है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कोर्ट ने लालकृष्ण आडवाणी, उत्तर प्रदेश के सीएम रहे कल्याण सिंह, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती समेत 13 लीडर्स के खिलाफ क्रिमिनल केस चलाने के संकेत दिए हैं। वहीं लखनऊ वाले मामले में बीजेपी और संघ परिवार के 19 बड़े नेताओं के ऊपर से साज़िश की धारा हटाई जा चुकी है। इसी को सीबीआई ने चुनौती दी है। लखनऊ का मामला बाबरी मस्जिद के ढांचा गिराए जाने से जुड़ा है। रायबरेली का मामला भीड़ को उकसाने का है।

गौरतलब है कि लखनऊ वाले मामले में साज़िश की धारा हटाने से अडवाणी, उमा भारती, कल्याण सिंह जैसे बड़े नेताओं को राहत मिली थी। इन लोगों की दलील है कि 2010 में हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ सीबीआई ने 9 महीने की देरी से अपील की थी। देरी के आधार पर इस मामले को खारिज कर दिया जाना चाहिए।

साथ ही इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट अब 22 मार्च को सुनवाई करेगा। लखनऊ के मामले में तो आपराधिक साजिश की धारा हट चुकी है। रायबरेली के मामले में सभी धाराएं बरकरार हैं। अब सबकी निगाहें अब सुप्रीम कोर्ट के 22 मार्च की सुनवाई पर है।