BMC मेयर के चुनाव में बीजेपी नहीं लेगी हिस्सा

सीएम देवेंद्र फडणवीस ने शनिवार को घोषणा की। मुख्यमंत्री बीजेपी 8 मार्च को होने वाले मेयर पद के चुनाव में नहीं लड़ेगी।

BMC मेयर के चुनाव में बीजेपी नहीं लेगी हिस्सा

मुंबई के मेयर के रूप में शिवसेना के उम्मीदवार की ताजपोशी का रास्ता साफ हो गया है। जहां महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने शनिवार को घोषणा की। मुख्यमंत्री बीजेपी 8 मार्च को होने वाले मेयर पद के चुनाव में नहीं लड़ेगी।

मुख्यमंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि बीजेपी के फैसले को उनकी सरकार को स्थिर बनाए रखने के लिए किया गया समर्पण नहीं माना जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुंबई की जनता ने बीजेपी के लिए भरपूर मतदान किया, क्योंकि उन्हें निगम प्रशासन में पारदर्शिता के हमारे एजेंडे पर भरोसा है। शिवसेना सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी वहीं हम उनसे दो सीट पीछे रहे। हम अपने दम पर मेयर बनाने के लिए संख्या नहीं पा सके।

उद्धव ठाकरे नीत शिवसेना के बीएमसी में 84 पार्षद चुनकर आए हैं वहीं, बीजेपी दो सीट पीछे रह गई। सीएम ने कहा, 'बीजेपी उप मेयर पद के लिए भी चुनाव नहीं लड़ेगी और स्थाई, सुधार, शिक्षा समितियों तथा बेस्ट समिति के अध्यक्ष पद के लिए भी चुनाव नहीं लड़ेगी। हमें हमारा मेयर बनाने के लिए अन्य दलों का समर्थन जरूरी था।'

मुख्यमंत्री के मुताबिक, बीजेपी के पास दो विकल्प थे। एक तो बाहरी समर्थन लेकर मेयर बनाना, जिसका मतलब होता कि पारदर्शिता के मामले में समझौता कर लिया गया। दूसरा यह कि जनता द्वारा हम पर जताए गए विश्वास को उचित ठहराना।

मुख्यमंत्री देवेंद्र ने कहा, 'मुंबई के मेयर के मुद्दे का मेरी सरकार की स्थिरता से कोई लेनादेना नहीं है। यह स्थिर है। शुक्रवार को शिवसेना के मंत्रियों ने कैबिनेट की बैठक में भाग लिया और हम अनेक मुद्दों पर सहमत थे।'