गुरमेहर के समर्थक पाकिस्तानी, देश से बाहर भेज दो: अनिल विज

दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज विवाद को लेकर देशभक्ति पर छिड़े दंगल में अब हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज भी कूद पड़े हैं। उन्होंने कहा कि गुरमेहर का समर्थन करने वाले लोग पाकिस्तान के समर्थक हैं और उन्हें सरहद पार भेज देना चाहिए।

गुरमेहर के समर्थक पाकिस्तानी, देश से बाहर भेज दो: अनिल विज

दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज विवाद को लेकर देशभक्ति पर छिड़े दंगल में अब हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज भी कूद पड़े हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विज ने ट्विटर पर गुरमेहर कौर के उस बयान पर ऐतराज जताया, जिसमें उन्होंने पिता की मौत के लिए पाकिस्तान के बजाए जंग को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने कहा कि इस बयान का समर्थन करने वाले लोग पाकिस्तान के समर्थक हैं और उन्हें सरहद पार भेज देना चाहिए।

रामजस कॉलेज में हुई हिंसा के बाद सोशल मीडिया कैंपेन चलाने वाली गुरमेहर कौर ने अब खुद को कैंपेन से अलग कर लिया था। गुरमेहर ने ट्विटर पर लिखा था कि 'मैं खुद को कैंपेन से अलग कर रही हूं, आप सभी का शुक्रिया, मुझे जो कहना था वो कह चुकी हूं'।

जालंधर अपने घर लौटीं गुरमेहर
इस बीच गुरमेहर दिल्ली छोड़कर अपने घर जालंधर लौट गई हैं। पुलिस ने गुरमेहर को मिली रेप की धमकी के मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है।वहीं गुरमेहर ने छात्र लेफ्ट संगठन आईसा की ओर से निकाले जाने वाले मार्च के लिए छात्रों को शुभकामना दी थी।

वामपंथी संगठनों का मार्च
रामजस कॉलेज विवाद पर मंगलवार को विश्विद्यालय में लेफ्ट से जुड़े संगठनों ने मार्च निकाला था। जिसमें छात्र संगठनों ने खालसा कॉलेज से आर्ट्स फैकल्टी तक मार्च निकाला था। वहीं एबीवीपी 2 मार्च को लेफ्ट के प्रदर्शन का जवाब देगी।

गौरतलब है कि रामजस कॉलेज के सेमिनार में जेएनयू के छात्र उमर खालिद को वक्ता के तौर पर बुलाए जाने का एबीवीपी के छात्र विरोध करने पहुंचे थे। जिसके बाद एबीवीपी के कार्यकर्ताओं और लेफ्ट छात्र संगठनों में झड़प हो गई थी। इस झड़प में कई छात्र घायल हो गए थे।