हिमाचल की इस बेटी ने साइकिल से किया ऐसा अविष्कार, वैज्ञानिक भी हैरान

हिमाचल में रहने वाली और 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली इस छात्रा ने साइकिल का ऐसा मॉडल तैयार किया है जिसकी खूबियां देख वैज्ञानिक भी हैरान है...

हिमाचल की इस बेटी ने साइकिल से किया ऐसा अविष्कार, वैज्ञानिक भी हैरान

हिमाचल में रहने वाली और 9वीं कक्षा में पढ़ने वाली इस छात्रा ने साइकिल का ऐसा मॉडल तैयार किया है जिसकी खूबियां देख वैज्ञानिक भी हैरान है। इस मॉडल से देश में नई क्रांति आ सकती है। अब इस छात्रा को राष्ट्रपति भवन तक से बुलाया आया है। 4 से 10 मार्च तक राष्ट्रपति भवन में फेस्टिवल ऑफ इनोवेशन -2017 का आयोजन किया जा रहा है। इसमें राष्ट्रीय इंस्पायर अवार्ड प्राप्त भारत के 60 नन्हें वैज्ञानिक हिस्सा ले रहे हैं। हिमाचल की ओर से दीपिका का तैयार मॉडल भी प्रदर्शित किया जाएगा जो पहले से चर्चा में आ गया है।

गौरतलब है कि इस नन्हीं वैज्ञानिक दीपिका ने अपने एक सामान्य साइकिल के मॉडल से वैज्ञानिकों को हैरत में डाल दिया है। मॉडल के माध्यम से मोबाइल चार्जिंग, शारीरिक व्यायाम, योगा, बिजली उत्पादन और संग्रहण और वाटर लिफ्टिंग आदि तकनीक विकसित की गई हैं। यानि सिर्फ कुछ पैडल चलाने भर से ही बिजली पैदा होगी, साथ ही एक जगह स्टोर भी होगी। यही नहीं इसी दौरान वाटर लिफ्टिंग की क्रिया भी होती रहेगी।

साथ ही अगर इस तकनीक को विकसित किया जाता है तो एक साथ कम लागत और कम वक्त में कई सारे काम करने संभव होंगे। विज्ञान के क्षेत्र में नवीनतम और अत्याधुनिक तकनीक का अनुसंधान कर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बना चुकी दीपिका जून माह में जापान भी जाएगी।

बता दें कि दीपिका हिमाचल के बिलासपुर स्थित शहीद अश्वनी कुमार स्मारक राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला झंडूता में नौवीं कक्षा की छात्रा है। उसका कहना है कि उसके जीवन का उद्देश्य विज्ञान के क्षेत्र में नवीन खोजें कर भारत का नाम विज्ञान गुरु के रूप में चर्चित करने का है।

वहीं इसके लिए दीपिका के प्रेरणा स्रोत विज्ञान शिक्षक दिनेश शर्मा रहे हैं। प्रदर्शनी में भाग लेने के लिए दीपिका नई दिल्ली के लिए रवाना हो गई हैं। विज्ञान शिक्षक दिनेश शर्मा भी उसके साथ गए हैं। रवाना होने से पहले दिनेश शर्मा ने बताया कि इस ऐतिहासिक उपलब्धि पर वे गौरवान्वित हैं।