खत्म होना चाहिए अल्पसंख्यक दर्जा वरना कैराना जैसे होंगे हालात: गिरिराज सिंह

चुनावी मौसम में बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने एक बार फिर ध्रुवीकरण की सियासत को हवा दी है। उन्होंने ट्विटर पर मुस्लिमों के अल्पसंख्यक दर्जे पर सवाल उठाए...

खत्म होना चाहिए अल्पसंख्यक दर्जा वरना  कैराना जैसे होंगे हालात: गिरिराज सिंह

चुनावी मौसम में बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने एक बार फिर ध्रुवीकरण की सियासत को हवा दी है। उन्होंने ट्विटर पर मुस्लिमों के अल्पसंख्यक दर्जे पर सवाल उठाए।

गिरिराज सिंह ने लिखा कि हिंदुस्तान में मुस्लिमों की जनसंख्या इतनी है की उन्हें अब अल्पसंख्यक से बाहर होना चाहिए, आज देश को जरूरत है अल्पसंख्यक की परिभाषा पर एक बहस की। सिंह ने इस टिप्पणी के साथ 'प्यू रिसर्च सेंटर' की रिसर्च से जुड़ी खबर का स्क्रीनशॉट भी शेयर किया। इस शोध के मुताबिक 2050 तक भारत सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाला देश होगा। हालांकि इस स्टडी में ये भी साफ किया गया है कि इस अवधि में हिंदुओं की जनसंख्या भी कम नहीं होगी।

बता दें कि चुनावों के मौसम में बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने एक बार फिर ध्रुवीकरण की सियासत को हवा दी है। उन्होंने ट्विटर पर मुस्लिमों के अल्पसंख्यक दर्जे पर सवाल उठाए।

बता दें कि गिरिराज सिंह ने लिखा कि हिंदुस्तान में मुस्लिमों की जनसंख्या इतनी है की उन्हें अब अल्पसंख्यक से बाहर होना चाहिए, आज देश को जरूरत है अल्पसंख्यक की परिभाषा पर एक बहस की। सिंह ने इस टिप्पणी के साथ 'प्यू रिसर्च सेंटर' की रिसर्च से जुड़ी खबर का स्क्रीनशॉट भी शेयर किया। इस शोध के मुताबिक 2050 तक भारत सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाला देश होगा। हालांकि इस स्टडी में ये भी साफ किया गया है कि इस अवधि में हिंदुओं की जनसंख्या भी कम नहीं होगी।

साथ ही मोदी सरकार में मंत्री गिरिराज सिंह पहले भी कह चुके हैं कि जिस जिले में मुस्लिम कुल आबादी का 80 फीसदी हिस्सा हों,वहां उन्हें अल्पसंख्यक नहीं कहा जा सकता। पिछले साल उन्होंने बयान दिया था कि जनता राम मंदिर मांग रही है लेकिन मंदिर कैसे बनेगा जब देश में राम भक्त ही नहीं रहेंगे। लिहाजा हिंदुओं को अपनी आबादी बढ़ानी चाहिए. बिहार चुनाव के दौरान गिरिराज सिंह ने कहा था कि मोदी का विरोध करने वाले लोगों को पाकिस्तान भेज देना चाहिए।