पुलिस वाले ने हड़पी विचाराधीन कैदी की कार

कैथू जेल में बंद एक विचाराधीन कैदी की वैगनार कार पुलिसकर्मी ने हड़प ली।

पुलिस वाले ने हड़पी विचाराधीन कैदी की कार

शिमला की कैथू जेल में बंद एक विचाराधीन कैदी की वैगनार कार पुलिसकर्मी ने हड़प ली। कैदी चरस के एक मामले में जेल में है और आरोप के घेरे में एक पुलिस वाला है। जो चंद घंटे के लिए मांग कर कार ले गया और महीनों बाद भी उसने कार नहीं लौटाई।

पुलिस कर्मचारी पर मजबूरी का फायदा उठाने का संगीन आरोप लगाया गया है और आशंका जताई जा रही है कि कहीं गाड़ी का गलत इस्तेमाल न किया जा रहा हो। कैदी की पत्नी की शिकायत के आधार पर सीआईडी थाना शिमला में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। सीआईडी को दी शिकायत में रोहडू के चिढ़गांव की रहने वाली महिला ने कहा कि उसके पति एनडीपीएस केस में कैथू जेल में बंद हैं।

अक्टूबर 2016 को रोहडू में पेशी के लिए गए थे और उनके साथ गारद ड्यूटी पर उस समय पुलिस लाइन कैथू में कार्यरत एक पुलिस कर्मचारी भी गया था। जब वह पेशी से वापस शिमला पहुंचे तो आरोपी पुलिस वाले ने उसके पति से कहा कि उसे कार्यालय का काम है और दो तीन घंटे के लिए उसकी गाड़ी चाहिए।

गाड़ी उस समय कैथू जेल के पास ही खड़ी थी। गाड़ी लेकर वह चला गया लेकिन आज तक उसने वापस नहीं की। अब पता चला है कि वह अब पुलिस लाइन कैथू में नहीं है उसका ट्रांसफर कुल्लू हो गया है। जिस दिन से उसे गाड़ी वापस करने के लिए कहा गया तब से उसने कॉल उठाना भी बंद कर दिया। 17 फरवरी को महिला अपने भाई के साथ पुलिस कर्मचारी के क्वार्टर घणाहट्टी के आगे सोलह मील गई लेकिन पुलिस वाला वहां भी नहीं मिला।