BCCI का प्रतिनिधित्व करते हैं सहवाग, भारत का नहीं : उमर खालिद

जेएनयू के स्टूडेंट और छात्र नेता उमर खालिद ने क्रिकेटर विरेंद्र सहवाग के ट्वीट का पलटवार करते हुए कहा कि विरेंद्र सहवाग भारत के लिए नहीं बल्कि BCCI के लिए खेलते थे...

BCCI का प्रतिनिधित्व करते हैं सहवाग, भारत का नहीं : उमर खालिद

DU के रामजस कॉलेज में हुई हिंसा का मामला बढ़ता जा रहा है। ABVP के खिलाफ इसी कॉलेज की छात्रा और शहीद की बेटी गुरमेहर कौर के सोशलमीडिया कैंपेन पर क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने भी ट्वीट किया था। अब जेएनयू के छात्र उमर खालिद ने वीरेंद्र सहवाग के ट्वीट की निंदा करते हुए कहा कि सहवाग बोर्ड ऑफ क्रिकेट कंट्रोल फॉर इंडिया (BCCI) का प्रतिनिधित्व करते हैं, भारत का नहीं।

खालिद ने अपनी फेसबुक वॉल पर लिखा है कि सहवाग बीसीसीआई का प्रतिनिधित्व करते हैं, न कि भारत का। जेएनयू में लगे भारत विरोधी नारों के बाद देशद्रोह के आरोपी बनाए गए खालिद के मुताबिक, गुरमेहर कौर के मामले में सहवाग ने जिस तरह से ट्वीट किया, इससे लगता है कि वे भारत नहीं, बल्कि बीसीसीआई का प्रतिनिधित्व करते हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय में जो हजारों छात्र और शिक्षक सड़कों पर उतरे हैं, वो भारत का प्रतिनिधित्व करते हैं। ऐसा नया भारत जिसका आधार बराबरी, न्याय और स्वतंत्रता पर निर्भर होगा।

दरअसल  सहवाग ने ट्विटर पर कागज की तख्ती लेकर अपनी एक फोटो शेयर की थी जिसमें लिखा था 'मैंने दो बार तिहरे शतक नहीं लगाए हैं, मेरे बैट ने लगाए हैं। सहवाग ने ट्वीट में लिखा, ''बैट में है दम। #भारत_जैसी_जगह_नहीं।''

वीरु का ये ट्वीट ने दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा गुरुमेहर कौर के ट्वीट के जवाब में था, जिसमें गुरमेहर ने कागज की तख्ती लेकर अपनी एक फोटो शेयर की है जिसमें लिखा है 'मैं दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा हूं। मैं एबीवीपी से नहीं डरती हूं। देश के छात्र मेरे साथ हैं।

इसके बाद कई बड़ी हस्तियां इस ट्वीट के दौर में कूद पड़ी,  जावेद अख्तर ने केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू पर पलटवार करते हुए कहा, उस लड़की (गुरमेहर कौर) के बारे में तो नहीं मगर मिस्टर मिनिस्टर मैं जानता हूं कि आपका दिमाग कौन गंदा कर रहा है। गुरमेहर कौर के अभियान पर रिजिजू ने कहा था, पता नहीं कौन इस लड़की का दिमाग दंगा कर रहा है।

वहीं इस बवाल के बीच छात्रा गुरमेहर कौर ने अपनी मुहिम समाप्त कर दी। मंगलवार सुबह गुरमेहर ने ट्वीट कर कहा है कि अब वह अपनी मुहिम पर विराम लगा रही है। उसने लिखा- सबको मुबारकबाद। अब मैं अपनी मुहिम को समाप्त कर रही हूं। मेरी अपील है कि अब मुझे अकेला छोड़ दिया जाए। मैंने जो कहना था, कह दिया है।