नौकरी का झांसा देकर लड़कियों का करती थी सौदा

पुलिस ने मानव तस्करी और सेक्स रैकेट चलाने के आरोप में महिला को गिरफ्तार किया, घर से दूर रहने वाली लड़कियों को अपना शिकार बनाती थी।

नौकरी का झांसा देकर लड़कियों का करती थी सौदा

दिल्ली से मानव तस्करी और सेक्स रैकेट चलाने के आरोप में एक महिला को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही एक बड़े रैकेट का खुलासा हुआ है जो नौकरी दिलाने के नाम पर नार्थइस्ट(पूर्वोत्तर) के राज्यों से लड़कियों के बहला-फुसला कर लाता था। इसके बाद उन्हें देह व्यापार में धकेल देता था।

पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार केबालिना एम. संगमा अंतर राज्य वेश्यावृत्ति रैकेट की सदस्य है। वह पूर्वोत्तर राज्यों के लड़कियों को बहला-फुसला कर दिल्ली में अच्छी नौकरियों व पैसे का लालच देती थी और उनका इस्तेमाल करती थी। पुलिस का कहना है कि संगमा बाद में लड़कियों को देह व्यापार में धकेल देती थी।

संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) रविंद्र यादव ने कहा कि संगमा की गिरफ्तारी 21 फरवरी को हिमाचल प्रदेश के हडिम्बा देवी मंदिर से की गई। संगमा शादीशुदा है और इससे पहले ब्यूटीपार्लर में काम करती थी। रविंद्र ने कहा, ‘संगमा गुवाहाटी में अपने दोस्त तनया संगमा के जरिए तानिया के संपर्क में आई।’

पुलिस अधिकारी का कहना है कि ‘तानिया ने उसे बीरु, धनराज और निखी से मिलवाया। ये दिल्ली में रहते थे और मानव तस्करी में शामिल थे। वे मासूम लड़कियों को अच्छी नौकरी का लालच देकर फंसाते थे।’ उन्होंने आगे कहा, ‘संगमा मेघालय की निवासी है। वह अपने माता-पिता से दूर रहने वाली लड़कियों को निशाना बनाती थी, जिन्हें अपने रहने के लिए नौकरी की जरूरत होती थी।’

पुलिस के मुताबिक, यह गिरोह दक्षिण दिल्ली और गुरुग्राम में सक्रिय था। पुलिस का कहना है कि अब उन लड़कियों की पहचान की जा रही है जो इस गिरोह का शिकार हुई है। इससे पहले भी कुछ लड़कियों को मुक्त कराया गया था। कई राज्यों की पुलिस से इस बारे में मदद मांगी गई है।