खुशखबरी: केंद्र सरकार 2018 तक देगी 2.83 लाख नौकरियां !

युवाओं को पढ़ाई करने के बाद नौकरी की तलाश रहती है लेकिन दिन रात मेहनत करने के बाद भी उन्हें नौकरी नहीं मिल पाती। ये देश की सबसे बढ़ी समस्या बन गई है...

खुशखबरी: केंद्र सरकार 2018 तक देगी 2.83 लाख नौकरियां !

युवाओं को पढ़ाई करने के बाद नौकरी की तलाश रहती है लेकिन दिन रात मेहनत करने के बाद भी उन्हें नौकरी नहीं मिल पाती। ये देश की सबसे बढ़ी समस्या बन गई है। युवाओं को नौकरी तलाशने में सबसे ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है और अगर नौकरी सरकारी हो तो फिर तो बात ही कुछ और है। मोदी सरकार जल्द ही ऐसे बेरोजगार युवकों को बंपर भर्ती का तोहफा देने वाली है।

बता दें कि सरकारी विभागों में कर्मचारियों की कमी को पूरा करने के लिए मोदी सरकार एक नए योजना पर काम कर रही है। सरकारी विभागों में करीब 2.83 लाख खाली पद भरे जाएंगे। इस भर्ती प्रकिया को पूरा करने की समय सीमा, मार्च 2018 तय की गई है। एक अनुमान के मुताबिक 2016 में सरकारी कर्मचारियों की संख्या 32.84 लाख थी जो कि 2018 तक 35.67 लाख हो जाएगी।

दरअसल, काले धन पर लगाम कसने में अहम भूमिका निभाने वाले आयकर विभाग में कर्मचारियों की संख्या 46 हजार से बढा़कर 80 हजार कर दी जाएगी। ऐसा ही कस्टम और एक्साइज डिपार्टमेंट में भी किया जाएगा, जहां 41 हजार लोगों की भर्ती की जाएगी। फिलहाल इन विभागों में करीब 50,600 कर्मचारी काम कर रहे हैं, लेकिन 2018 तक यह संख्या 91,700 हो जाएगी।

साथ ही विभागों में मैनपावर की मजबूती के इस प्लान में रेलवे विभाग भी शामिल हैं। बता दें कि रेलवे देश का ऐसा विभाग है जहां 13.31 लाख कर्मचारी काम रह हैं। लेकिन रेलवे और रक्षा विभाग में 2018 तक बंपर भर्ती करना चाहती है। इस लिस्ट में अंतरिक्ष, परमाणु ऊर्जा, केंद्रिय सचिवालय, सूचना एवं प्रसारण और विदेश मंत्रालय विभाग भी शामिल हैं।

गौरतलब है कि केंद्र ने साल 2016 तक आईटी, कस्टम और सेंट्रल एक्साइज में 1.88 लाख भर्तियों का टारगेट बनाया था, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। पर अब सरकार इन अपने टारगेट में सबसे ऊपर रख रही है। पीएम मोदी विदेश मंत्रालय में कर्मचारियों की भर्ती पर खासा जोर दे रहे हैं। इस विभाग में 2016 तक 9,294 भर्ती हुईं लेकिन 2018 तक इसमें 2000 भर्ती करने का टारगेट दिया गया है।