NRI पतियों ने दी Whatsapp पर पत्नियों को तलाक

आज के वक्त में रिश्तों में इतना तनाव पैदा होता जा रहा है कि लोग शादी जैसे पवित्र रिश्तों को तोड़ने में एक पल नहीं लगाते। इस तनाव में नई तकनीक और पुरानी रिवायतों ने आग में घी का काम किया है...

NRI पतियों ने दी Whatsapp पर पत्नियों को तलाक

आज के वक्त में रिश्तों में इतना तनाव पैदा होता जा रहा है कि लोग शादी जैसे पवित्र रिश्तों को तोड़ने में एक पल नहीं लगाते। इस तनाव में नई तकनीक और पुरानी रिवायतों ने आग में घी का काम किया है कि बस एक मैसेज किया और जीवनभर का साथ एक झटके में खत्म। हैदराबाद में एक ही परिवार की दो बहुओं को उनके पतियों ने व्हाट्सऐप पर तलाक दे दिया। मोगलपुरा इलाके की माहरीन नूर को उसके पति मोहम्मद अब्दुल अकील ने न्यूयॉर्क से Whatsapp पर तीन बार तलाक लिखकर भेज दिया। अकील उर्फ उस्मान कुरैशी सेवन हैवन मेडिकल एजेंसी में सीनियर अनैलिस्ट है। उसने 2015 में माहरीन से शादी की थी और कुछ वक्त तक पत्नी के साथ रहने के बाद वो न्यूयॉर्क चला गया था।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उस्मान ने व्हाट्सऐप डिस्प्ले पिक्चर (डीपी) पर भी तीन तलाक की फोटो लगा दी। कुछ हफ्ते पहले उस्मान के भाई फय्याजुद्दीन कुरैशी ने भी अपनी पत्नी हिना फातिमा को तलाक देने के लिए यही तरीका अपनाया था। उस्मान की तरह फय्याजुद्दीन भी अमेरिका में रहता है, उसने हिना से 2013 में शादी की थी। वहीं Whatsapp पर तलाक के बाद ससुरालवालों ने माहरीन को घर से निकाल दिया। मजबूरन उसे 27 फरवरी को पुलिस के पास शिकायत दर्ज करवानी पड़ी। इसके बाद ससुर हफीज और सास आतिया को गिरफ्तार कर लिया गया है।

बता दें कि दोनों एनआरआई पतियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए कानूनी सलाह ली जा रही है। दोनों पीड़ित पत्नियों ने अपने ससुराल के बाहर विरोध प्रदर्शन भी किया था लेकिन घरवालों ने उन्हें भीतर नहीं घुसने दिया। गौरतलब है कि पिछले कुछ समय से तीन तलाक के मसले पर बहस जारी है। सुप्रीम कोर्ट ने पिछले दिनों तीन तलाक की वैधता पर संवैधानिक बेंच का गठन किया था। केंद्र सरकार ने अदालत को बताया था कि वो इस प्रथा के खिलाफ है क्योंकि महिलाओं के अधिकारों के साथ धार्मिक रिवाजों के नाम पर समझौता नहीं हो सकता। मुस्लिम महिलाओं में इसे लेकर राय बंटी है।