ऑफिसर्स के कुत्ते घुमाने का विरोध करने पर आर्मी जवान की संदिग्ध परिस्थिति में मौत

आर्मी के सहायक सिस्टम का विरोध करने वाले सेना के जवान की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। गनर रॉय मैथ्यु की बॉडी महाराष्ट्र के देवलाली कैंट के एक कमरे में लटकी मिली है।

ऑफिसर्स के कुत्ते घुमाने का विरोध करने पर आर्मी जवान की संदिग्ध परिस्थिति में मौत

आर्मी के सहायक सिस्टम का विरोध करने वाले सेना के जवान की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। गनर रॉय मैथ्यु की बॉडी महाराष्ट्र के देवलाली कैंट के एक कमरे में लटकी मिली है। जानकारी के मुताबिक, पिछले महीने मैथ्यू को एक न्यूज चैनल पर कुछ जवानों के साथ स्टिंग वीडियो में देखा गया था। इसमें वो लोग आर्मी ऑफिसर्स के कुत्ते घुमाते नजर आ रहे थे। इस स्टिंग के बाद आर्मी में ब्रिटिश दौर से चले आ रहे सहायक सिस्टम पर सवाल उठाए गए थे।

डॉक्टर्स के अनुसार, 33 साल के मैथ्यु की मौत 3 दिन पहले हो चुकी थी, उनका शरीर सड़ गया था। जानकारी के मुताबिक, वीडियो सामने आने के बाद से मैथ्यु काफी दबाव में थे। 25 फरवरी को अपनी आर्टिलरी से भाग गए थे और तभी से उनका कुछ पता नहीं था। वहीं, सेना का कहना है कि वो बिना बताए ड्यूटी से गायब थे। मैथ्यु सेना में 13 साल से नौकरी कर रहे थे।

स्टिंग ऑपरेशन आने के बाद मैथ्यु पर आर्मी का इंटरनल इन्वेस्टिगेशन चल रहा था। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, 'जांच इस बात की हो रही थी कि एक कर्नल रैंक के ऑफिसर के साथ सहायक के रूप में पोस्टेड मैथ्यु का वीडियो आने के बाद कहीं उसे परेशान तो नहीं किया जा रहा था।' ज्ञात हो कि यह विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इसके बाद मैथ्यु से कई ऑफिसर्स ने पूछताछ की थी।