यूपी-मणिपुर में मतदान समाप्त, अब मतगणना पर सभी की निगाहें

उत्तर प्रदेश में बुधवार को सातवें और अंतिम चरण के वोटिंग में वाराणसी समेत 7 जिलों की 40 सीटों पर मतदान समाप्त हो गया।

यूपी-मणिपुर में मतदान समाप्त, अब मतगणना पर सभी की निगाहें

उत्तर प्रदेश में बुधवार को सातवें और मणिपुर में दूसरे व अंतिम चरण का मतदान समाप्त हो गया। अब सभी की निगाहें 11 तारीख को होने वाले मतों की गणना पर टिकीं हैं। यूपी में वाराणसी समेत 7 जिलों की 40 सीटों पर मतदान संपन्न हुआ। लोग सुबह से ही अपने-अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए लाइन में खड़े दिखे। उधर नक्सल प्रभावित दुद्धी, रॉबर्ट्सगंज और चकिया सीट पर वोटिंग शाम 4 बजे तक ही हुई। इस दौर में करीब एक करोड़ 41 लाख मतदाता 535 उम्मीदवारों की भाग्य का फ़ैसला करेंगे।

इसी दौर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वारणसी भी शामिल था। नक्सल प्रभावित जिलों सोनभद्र, मिर्जापुर और चंदौली के अलावा वाराणसी संसदीय क्षेत्र के तहत आने वाली सीटों पर सबकी नजरें टिकी थी। सातों जिलों में कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए। मतदान के लिए इन जिलों में कुल 14, 458 बूथ बनाए गए। भाजपा 32 सीटों पर चुनाव लड़ रही थी, जबकि चार-चार सीटें इसने अपने सहयोगी 'अपना दल' और 'सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी' को दी। बसपा ने सभी सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे। सपा 31 सीटों पर चुनाव लड़ी तो उसकी गठबंधन सहयोगी कांग्रेस शेष नौ सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे। ज्ञात हो कि चुनाव के नतीजे 11 मार्च को आएंगे।

उधर मणिपुर विधानसभा के 22 सीटों के लिए आखिरी चरण का मतदान सुबह सात बजे शुरू हो गया था। इस बीच, तामेंगलोंग जिले में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में गड़बड़ी की शिकायतें मिली थी। इस चरण के चुनाव में मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह, प्रख्यात मानवाधिकार कार्यकर्त्ता इरोम शर्मिला, मुख्यमंत्री के बेटे ओकराम सूर्जा कुमार, उप-मुख्यमंत्री गईखनगम के भाग्य का फैसला होना है। इस चरण में कुल 98 उम्मीदवार मैदान में थे जिसमें चार महिला उम्मीदवार शामिल थीं।