जियो करना चाहता है डेटा के जरिए आधे टेलिकॉम मार्केट पर कब्जा

देश के सबसे अमीर लोगों में गिने जाने वाले शख्स मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो इन्फोकॉम देश के आधे टेलिकॉम मार्केट पर कब्जा जमाने का लक्ष्य लेकर चल रही है...

जियो करना चाहता है डेटा के जरिए आधे टेलिकॉम मार्केट पर कब्जा

देश के सबसे अमीर लोगों में गिने जाने वाले शख्स मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो इन्फोकॉम देश के आधे टेलिकॉम मार्केट पर कब्जा जमाने का लक्ष्य लेकर चल रही है। कंपनी का मानना है कि डेटा के इस्तेमाल में इजाफे और सर्विस क्वॉलिटी के चलते अधिक पेमेंट चुकाकर भी ग्राहक जियो की ओर आकर्षित होंगे। एनालिस्ट्स को दिए गए प्रजेंटेशन में जियो ने कहा कि उसकी ओर से मार्केट शेयर बढ़ाने की रणनीति में डेटा का इस्तेमाल बड़ा हिस्सा है। कंपनी ने इसका खुलासा नहीं किया कि वित्तीय लक्ष्यों को हासिल करने को लेकर उसकी क्या रणनीति है।

हालांकि कंपनी 2020-21 तक वित्तीय लाभ कमाने पर विचार कर रही है। एचएसबीसी के मुताबिक दिसंबर तिमाही में देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी का मार्केट शेयर 33.1 पर्सेंट रहा है, जबकि वोडाफोन 23.5 पर्सेंट के साथ दूसरे नंबर और 18.7 पर्सेंट शेयर के साथ आइडिया तीसरे नंबर पर रहा है। इसके बाद टाटा टेलिसर्विसेज 6.2 पर्सेंट, एयरसेल 5.5 पर्सेंट और रिलायंस कॉम्युनिकेशंस के पास 4 पर्सेंट मार्केट शेयर है।

बता दें कि इसी तरह मुनाफे के मामले में भी इंटरेस्ट, टैक्स और डेप्रिसिएशन को घटाने से पहले एयरटेल ने सबसे ज्यादा 36.7 पर्सेंट मुनाफा हासिल किया। वहीं, आइडिया ने 25 पर्सेंट का मुनाफा कमाया। बीते साल सितंबर तक छह महीनों में वोडाफोन इंडिया ने 29.6 पर्सेंट मुनाफा हासिल किया। उल्लेखनीय है कि वोडाफोन और आइडिया में विलय को लेकर बातचीत चल रही है। माना जा रहा है कि इन दोनों कंपनियों के विलय बाद बनी नई कंपनी देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी होगी।

गौरतलब है कि पहली बार जियो एनालिस्ट्म मीटिंग में शामिल हुए डोएचे बैंक इक्विटी रिसर्च एशिया ने कहा कि भारत का मोबाइल मार्केट अगले 5 सालों में 50 पर्सेंट तक बढ़कर 3 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच सकता है, जो फिलहाल 1.94 लाख करोड़ रुपये ही है।